इंडोनेशिया में भूकंप बाद सुनामी से मृतकों की संख्या बढ़कर 832 हुई

- सुलावेसी द्वीप में हर तरफ बिखरे पड़े हैं तबाही के मंजर

जकार्ता।

इंडोनेशिया के सुलावेसी द्वीप में रिक्टर पैमाने 7.5 की तीव्रता पर आए भूकंप के बाद आई सुनामी के चलते हुए हादसों में रविवार को मरने वालों की संख्या बढ़कर 832 हो गई। द गार्जियन में छपी खबर के अनुसार, मृतकों की संख्या अभी और बढ़ने की आशंका है। देश के आपदा प्रबंधन एजेंसी के मुताबिक, बचाव कार्य अभी भी जारी है। सीएनएन के अनुसार, द्वीप में शुक्रवार को आए भूकंप के बाद पानी इमारतों में घुस गया और 350,000 लोगों की आबादी वाले तटीय शहर पालू के घरों को बहा ले गया।

-डोंगगाला और पालू प्रांत में ज्यादा तबाही

मृतकों में 11 लोग डोंगगाला के हैं और 821 पालू प्रांत के। अभी तक कुछ विदेशी नागरिक लापता हैं। लापता विदेशी नागरिकों में एक फ्रेंच, एक साउथ कोरिया और कुछ दूसरे देशों के नागरिक हैं। आपदा प्रबंधन एजेंसी की तरफ से जारी बयान में कहा गया है कि लोगों को घरों से निकालना और राहत कार्य अंजाम देने में काफी प्रतिकूल परिस्थितियों का सामना करना पड़ रहा है।

29 सितंबर को इंडोनेशिया के सुलावेसी द्वीप और इसके आसपास के इलाके को भूकंप और सूनामी ने दहला दिया। इंडोनेशिया की एक डिजास्टर एजेंसी के मुताबिक इस आपदा में अभी तक 832 लोग मारे गए हैं। भूकंप का केंद्र पालू शहर से 78 किमी दूर था।

-भूकंप की दहश्त से पूरी रात घरों से बाहर रहे लोग

इंडोनेशिया में अंतर्राष्ट्रीय रेड क्रॉस के प्रमुख जेन जेलफेंड ने सीएनएन को बताया, ह्यऐसा सिर्फ शहरी इलाकों में नहीं है बल्कि दूरदराज के इलाकों में रह रहे समुदायों तक भी पहुंच बनाने में मुश्किल हो रही है। शहर के अधिकारियों ने शनिवार को भूकंप की आशंका के चलते लोगों से घरों में नहीं जाने और इमारतों से दूर सोने का आग्रह किया। सुतोपो ने कहा कि एक स्थानीय अस्पताल के क्षतिग्रस्त होने के बाद चिकित्सकों ने इमारत के बाहर दर्जनों घायलों का उपचार किया।

Back to top button