मध्यप्रदेश

इंदौर में कोरोना संक्रमितों की संख्या घटी तो डॉक्टरों और नर्सिंग स्टाफ को भेजा एमवाय अस्पताल

लॉकडाउन खत्म होने के बाद एमवायएच में मरीजों के उपचार व सर्जरी शुरू हो गई।

Indore Coronavirus News। एमआरटीबी, एमटीएच व सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या कम होने के कारण यहां मौजूद डॉक्टर व नर्सिंग स्टॉफ को एमवायएच भेज दिया गया है। लॉकडाउन खत्म होने के बाद एमवायएच में मरीजों के उपचार व सर्जरी शुरू हो गई।

इस वजह से अब यहां पर मरीजों संख्या में लगातार इजाफा होने के कारण यहां पर मेडिकल स्टॉफ की लगातार कमी महसूस हो रही है। कोरोना संक्रमण के द्वारा जब एमआरटीबी, एमटीएच व सुपर स्पेशलिटी को कोविड केयर सेंटर के इलाज के तब्दील किया गया था, उस समय एमवाएच के मेडिकल स्टॉफ की ही ड्यूटी इन हॉस्पिटल में लगाई गई थी।

एमवायएच में मरीजों की संख्या भी बढ़ी

कोविड संक्रमण के दौर में एमवाय हॉस्पिटल प्रतिदिन 350 मरीजों को इलाज हो रहा था लेकिन अब यहां पर औसतन 700 मरीज भर्ती है। एमवायएच में मरीजों की संख्या बढ़ने के कारण पहले जहां एटीएमएच में यहां के 42 लोगों की ड्यूटी लगाई जाती थी वही अब सिर्फ 25 लोगों की ड्यूटी लगाई गई है।

वही एमआरटीबी में पहले जहां 15 लोगों का स्टॉफ भेजा जा रहा था वही 9 डॉक्टरों की ड्यूटी लगाई जा रही है। इसी तरह सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल में भी मरीजों की संख्या कम होेने के कारण यहां के कई डॉक्टरों को एमवायएच भेजा गया है।

कोविड सेंटर में मरीज कम होने से एमवायएच के कम स्टॉफ की लगा रहे ड्यूटी

जब कोविड के मरीज बढ़ रहे थे उस समय एमवायएच के डॉक्टर्स व नर्सिग स्टॉफ की ज्यादा संख्या में एमटीएच व एमआरटीबी व सुपर स्पेशलिटी में ड्यूटी लगाई जा रही थी। अब वहां पर मरीज कम है तो मेडिकल कॉलेज प्रबंधन के निर्देश पर एमवायएच के कम स्टॉफ की ड्यूटी वहां लगा रहे है। पहले जो स्टॉफ वहां काम कर रहा था अब वो एमवायएच में काम कर रहा है।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button