तकनीकी गड़बड़ी की वजह से केबल कारों के भीतर 80 लोग चार घंटे तक लटके रहे हवा में

तकनीशियनों को गड़बड़ी दुरुस्त करने के लिए भेजा गया था. स्थानीय अग्निशमन एवं बचाव विभाग ने इससे पहले जारी एक बयान में कहा था कि बचावकर्मियों को शाम को सतर्क करने के बाद घटनास्थल पर भेजा गया है.

मलेशिया के लैंगकावी में तकनीकी गड़बड़ी की वजह से केबल कारों के भीतर कम से कम 80 लोग चार घंटे तक फंसे हवा में लटके रहे. लैंगकावी विकास प्राधिकरण के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) अजिजान नूरडीन ने कहा कि लगभग चार घंटे तक केबल कारों में फंसे रहने के बाद 89 पर्यटकों को बाहर निकाला गया.

तकनीशियनों को गड़बड़ी दुरुस्त करने के लिए भेजा गया था. स्थानीय अग्निशमन एवं बचाव विभाग ने इससे पहले जारी एक बयान में कहा था कि बचावकर्मियों को शाम को सतर्क करने के बाद घटनास्थल पर भेजा गया है. शुरुआत में हवा में लटके लोगों के अलावा ऊपरी स्टेशन पर फंसे लोगों को मिलाकर कुल 800 लोगों के फंसे होने की जानकारी मिली थी.

गौरतलब है कि बीते साल जम्मू एवं कश्मीर के गुलमर्ग में गंडोला केबल कार सेवा में हुए हादसे में दिल्ली के एक परिवार के चार सदस्यों सहित सात लोगों की मौत हो गई थी. रोपवे परियोजना का इस तरह का यह पहला हादसा था, जो जम्मू एवं कश्मीर सरकार तथा फ्रांस की एक कंपनी का संयुक्त उपक्रम है. गुलमर्ग आने वाले पर्यटकों के बीच यह खासा मशहूर है.

Back to top button