फावती कार्य के एवज में पटवारी टंकेश्वर वर्मा ने लिया लक्ष्मींन बाई से 6000

पीड़िता ने की मदद की गुहार

छुरा: गरियाबंद जिले के छुरा विकासखंड के मेड़किडबरी पंचायत आश्रित निवासी लक्ष्मींन बाई गोड़ पिता धनुराम जब अपने नाम से ऋण पुस्तिका को अपने और अपनी बहन के नाम से अलग अलग विभाजित करने के लिए पटवारी टंकेश्वर वर्मा (हल्का नंबर 34) से बात की तो उक्त पटवारी ने उससे फावती के कार्य के नाम से लक्ष्मनी बाई के बताये अनुसार टंकेश्वर वर्मा ने लक्ष्मींन बाई से 6000 रुपया लिया और मुर्गा भात भी उसी के घर में खाया।

बहुत दिन बात लक्ष्मींन बाई का कार्य नही हुआ तो वो परेशान हो गयी क्योकि साल भर बाद भी पटवारी टंकेश्वर वर्मा उसका कार्य नही किया और लिया हुआ पैसा भी वापस नही किया। इस बात की खबर लगते ही मीडिया ने जब पीड़िता से बात की तो पीड़िता लक्ष्मींन बाई ने पटवारी टंकेश्वर वर्मा के द्वारा 6000 रुपये लेने की बात कही और उक्त पटवारी के खिलाफ कड़ी कार्यवाही करवाने की बात कही।

जब पत्रकारों जनकारी लगी तब पटवारी को पता चला तब लगातार फोन करके माफी मांगने की बात कही जा रही है और जो पैसा लिया था उसको वापस किया हु करके बोलने लगा लेकिन जब फिर से लक्ष्मींन बाई से पैसा वापसी वाली बात पूछी गयी तो पीड़िताने एक पैसा वापस नही किया गया है बोली। इस मामले में जांच टीम बैठाएंगे और कार्यवाही करेंगे -मीना साहू तहसील कार्यालय अधिकारी छुरा क्षेत्र में इस तरह की घटना होना गलत है बेवजह शासकीय काम के एवज में किसी से राशि लेना अपराध है मामले की कड़ी से जांच कर कार्यवाही करेंगे – के के वर्मा थाना प्रभारी छुरा जिला गरियाबंद.

1
Back to top button