महिला क्रिकेटर मिताली राज का समर्थन में, सुनील गावस्कर ने कही ये बात

गावस्कर ने कहा कि मिताली काफी अच्छी खिलाड़ी हैं। उन्होंने 20 साल भारतीय क्रिकेट की सेवा की है।

पूर्व भारतीय कप्तान सुनील गावस्कर महिला क्रिकेटर मिताली राज के समर्थन में आगे आए हैं। उन्होंने मिताली राज को नहीं खिलाए जाने पर अफसोस जताया है।

दरअसल वेस्टइंडीज में पिछले दिनों खेले गए महिला T-20 विश्व कप के सेमीफाइनल मुकाबले में मिताली राज को इलेवन से बाहर किए जाने का ये मुद्दा सुर्खियों में बना हुआ है।

टीम मैनेजमेंट द्वारा मिताली के साथ किए गए इस बर्ताव को लेकर कई दिग्गजों ने सवाल उठाए थे। लेकिन पहली बार भारत के पूर्व दिग्गज क्रिकेटर सुनील गावस्कर मिताली के समर्थन में बोले हैं।

गावस्कर ने कहा कि मिताली काफी अच्छी खिलाड़ी हैं। उन्होंने 20 साल भारतीय क्रिकेट की सेवा की है। उन्होंने रन बनाए हैं और दोनों मैचों में प्लेयर ऑफ द मैच बनीं। गावस्कर ने कहा कि मिताली एक मैच के लिए चोटिल थीं, लेकिन अगले मैच के लिए वह फिट हो गई थीं।

भारत के इस महान बल्लेबाज ने सवाल उठाया कि इस स्थिति की तुलना पुरुषों के मैच से करके देखिए, यदि विराट कोहली किसी मैच में चोटिल होने की वजह से नहीं खेलते हैं और उसके बाद वह नॉकआउट के लिए फिट हो जाते हैं तो क्या आप उन्हें टीम से बाहर रखोगे?

उन्होंने कहा कि आपको नॉकआउट के लिए अपने सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ियों को चुनना होता है। आपको मिताली के अनुभव और उनकी क्षमताओं की जरूरत थी।

आपको बता दें कि भारतीय महिला टीम की सबसे सीनियर खिलाड़ी मिताली राज ने जौहरी और करीम को भेजे गए कड़े ईमेल में पोवार पर आरोप लगाया था कि उन्हें वेस्टइंडीज में खेले गए टी-20 विश्व कप के दौरान पोवार ने अपमानित किया था। साथ ही टीम से बाहर किए जाने पर वह रो पड़ी थीं।

बीसीसीआई सूत्रों के अनुसार रमेश ने स्वीकार किया कि मिताली के साथ उनके पेशेवर रिश्ते तनावपूर्ण हैं, क्योंकि उन्हें हमेशा लगा कि वह अलग-थलग रहने वाली खिलाड़ी हैं और उन्हें संभालना मुश्किल है।

हालांकि अधिकारी ने कहा कि पोवार ने बताया कि मिताली को सेमीफाइनल से बाहर करना बदले की भावना नहीं, बल्कि रणनीति का हिस्सा था। इंग्लैंड ने इस मैच में भारत को आठ विकेट से हराया था।<>

 

1
Back to top button