मनोरंजन

सुशांत सिंह सुसाइड केस में बहन श्वेता सिंह ने पीएम मोदी को ट्वीट कर तत्काल जांच के लिए किया अनुरोध

हम भारत की न्याय व्यवस्था में विश्वास करते हैं और किसी भी कीमत पर न्याय की उम्मीद करते हैं.''

New Delhi: अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की बहन श्वेता सिंह कीर्ति ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को ट्वीट करते हुए दिवंगत अभिनेता के सुसाइड केस की तत्काल जांच के लिए अनुरोध किया है. अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की बहन ने लिखा, ”मैं सुशांत सिंह राजपूत की बहन हूं और मैं पूरे मामले की तत्काल जांच का अनुरोध करती हूं. हम भारत की न्याय व्यवस्था में विश्वास करते हैं और किसी भी कीमत पर न्याय की उम्मीद करते हैं.”

श्वेता ने ट्वीट के जरिए एक नोट भी साझा किया है, जिसमें उन्होंने लिखा, ”मेरा दिल कहता है कि आप सच के साथ खड़े होते हैं. हम बहुत ही सिंपल परिवार से ताल्लकु रखते हैं. जब मेरे भाई ने बॉलीवुड में एंट्री की थी तब उसके पास कोई गॉडफादर नहीं था और ना ही हमारे पास ही इस तरह की कोई शख्सियत है. मेरी आप से यही अनुरोध है कि आप तत्काल इस केस की जांज शुरू कराएं और इस बात विश्वास दिलाएं कि हर चीजें सुचारू रूप से चलेंगी और सबूतों के साथ किसी तरह का छेड़छाड़ न किया जाए. आपसे न्याय की आशा है.”

उल्लेखनीय है कि सुशांत सिंह राजपूत को न्याय दिलाने के उनकी बहन लगातार सोशल मीडिया पर एक्टिव हैं. हाल ही में श्वेता सिंह कीर्ति ने भी सोशल मीडिया पर एक पोस्ट शेयर किया था जिसमें उन्होंने बताया है कि सुशांत एक शिव भक्त थे. एक तस्वीर के साथ सुशांत की बहन ने कैप्शन में लिखा है, ”मैं चाहती हूं कि हर कोई भगवान शिव से प्रार्थना करे, जिससे वो हमें सच्चाई की ओर ले जाए और हमें लड़ते रहने की ताकत दे.”

आपको बता दें कि हाल ही में सुशांत सिंह राजपूत की एक्स गर्लफ्रेंड अंकिता लोखंडे ने भी एक इंटरव्यू में कहा था कि- ‘सुशांत कभी उदास नहीं होता था’. इसके अलावा उन्होंने कहा कि, वो सुशांत के परिवार के साथ हैं और चाहती हैं कि जल्द से जल्द सच सबके सामने आए.

आपको बता दें कि सुशांत के पिता ने रिया चक्रवर्ती पर आत्महत्या, धोखाधड़ी, बेईमानी, घर में चोरी जैसे गंभीर आरोप लगाए हैं. वहीं रिया ने ये मामला बिहार पुलिस से मुंबई पुलिस को ट्रांसफर करने की याचिका डाली है. इसके अलावा हाल ही में, सुप्रीम कोर्ट ने एक याचिका खारिज कर दी है जिसमें सुशांत के केस की सीबीआई जांच की मांग की गई थी.

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button