न्याय की आस में आखिर जिंदगी से हारी सविता, शिव मंदिर में जहर खाकर दे दी जान

धमतरी। न्याय की आस में दर-दर ठोकरें खाने के बाद आखिरकार सविता खंडेलवाल ने खुदकुशी कर ली है। सविता ने शुक्रवार सुबह करीब 9 बजे शिव मंदिर में जहर खाकर खुदकुशी कर ली। सविता खंडेलवाल को जहर खाये हालत में सबसे पहले उसका बेटा देखा, जिसके बाद उसने जानकारी पुलिस को दी गयी, तब तक सविता की मौत हो चुकी थी।

घर की नीलामी के बाद हो गई थी परेशान : बता दें कि बैंक ने 18 जून को सविता खंडेलवाल के घर को सीज कर लिया था, जिसके बाद से वो मंदिर में ही रह रही थी। पहले से ही परेशान चल रही सविता घर की नीलामी के बाद और भी परेशान हो गई थी। सविता को उसके पति अखिलेश खंडेलवाल ने संपत्ति से भी बेदखल कर दिया है लिहाजा सविता अपने 11 साल के बच्चे के साथ दर-दर की ठोकरें खा रही थी और इच्छा मृत्यु की मांग कर रही थी।

महिला आयोग, कलेक्टर-एसपी भी नहीं दिला पाए न्याय : सविता ने आरोप लगाया था कि धमतरी के एसपी और कलेक्टर से भी शिकायत कर जांच और न्याय दिलाने की मांग की। लेकिन किसी ने कोई कार्रवाई नहीं की। धमतरी पुलिस यह कहते हुए कार्रवाई करने से इनकार कर दिया कि यह मामला कोर्ट में खत्म हो चुका है। सविता का आरोप था कि जब वह दिल्ली में अपनी दीदी के पास रह रही थी, तब कोर्ट से इस मामले को वहां ट्रांसफर करने के लिए याचिका दायर की थी न कि खत्म करने के लिए। महिला आयोग पिछले 3 साल से जारी घरेलू हिंसा को लेकर मुझे न्याय नहीं दिला पा रहा है।

new jindal advt tree advt
Back to top button