पापोन मामला में एनसीपीसीआर जांच करेगा, कहीं चैनल ने कोई चूक तो नहीं की

संगठन के सदस्य प्रियांक कानूनगो ने कहा, ‘पॉक्सो के तहत बच्चों के खिलाफ यौन अपराधों की सूचना देना आवश्यक है.

नई दिल्ली:

सिंगिंग रिएलिटी शो ‘द वॉइस इंडिया किड्स’ में बतौर जज नजर आ रहे बॉलीवुड सिंगर पापोन के खिलाफ नेशनल कमीशन फॉर प्रोटेक्शन ऑफ चाइल्ड राइट में शिकायत दर्ज की गई है.

आरोप है कि सिंगर ने उनके शो में आई बच्ची को गलत तरीके से किस किया. सुप्रीम कोर्ट के एक वकील ने उनके खिलाफ शिकायत दर्ज की है.

अब राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग (एनसीपीसीआर) इस बात की जांच कर रहा है कि क्या संगीत पर आधारित एक रियल्टी शो का प्रसारण करने वाले एंड टीवी ने गायक पापोन द्वारा एक नाबालिग प्रतिभागी पर कथित यौन हमला किए जाने की घटना की सूचना नहीं देकर किसी तरह की चूक की.

एनसीपीसीआर की अध्यक्ष स्तुति कक्कड़ ने कहा, हमने मामले का संज्ञान लिया है और हम घटना की जांच कर रहे हैं. चैनल और आरोपी को नोटिस जारी किया गया है. आयोग ने मुंबई पुलिस से कार्रवाई रिपोर्ट मांगी है.

संगठन के सदस्य प्रियांक कानूनगो ने कहा, पॉक्सो के तहत बच्चों के खिलाफ यौन अपराधों की सूचना देना आवश्यक है. हम यह जानना चाहते हैं कि क्या चैनल ने इसका अनुपालन किया. हालांकि, पापोन ने कहा कि उन्हें बिना किसी गलती के प्रताड़ित किया जा रहा है. उन्होंने कभी भी अभद्र आचरण नहीं किया है.

वायरल हुए एक वीडियो में पापोन वॉइस ऑफ इंडिया किड्स 2018 के प्रतिभागियों के साथ होली मनाते और एक नाबालिग लड़की को चूमते नजर आते हैं. पापोन इस रिएल्टी टीवी शो में गायक शान और गायक एवं संगीतकार हिमेश रेशमिया के साथ जज हैं.

उच्चतम न्यायालय में वकालत करने वाले रूना भुइयां ने राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग में पापोन के खिलाफ पॉक्सो अधिनियम के तहत शिकायत दर्ज कराई है.

Back to top button