धमतरी जिले में आईपीएल क्रिकेट में करोड़ों रुपए का लगा सट्टा

विनोद कुमार:

धमतरी: धमतरी जिले में तेजी से फले फुले क्रिकेट सट्टे के कारोबार में कई अन्य महत्वपूर्ण जानकारियां प्राप्त हो रही है। क्लिपर 28 ने इस मंगलवार को इस विषय पर पहली खबर ★धर्म की नगरी धमतरी हो रही मैली “★ ख़बर प्रकाशित कर युवा वर्ग का तेजी से इस सट्टे की गिरफ्त में जाने की बात से शासन प्रशासन को अवगत कराया।

अब इसी गोरख धंधे के बारे में सूत्रों द्वारा और भी जानकारियां प्राप्त हुई है। हाल ही में हुए आईपीएल टूर्नामेंट में अकेले धमतरी जिले में ही करोड़ों रुपए के दाव हर मैच में लगाया गए। जिससे इस रोग के वृहद रूप से फैलने से इंकार नहीं किया जा सकता।

टूर्नामेंट के हर मैच की गेंदबाजी, बल्लेबाजी, जीत हार सहित कोन सी टीम टॉस जीतेगी जैसे हर तरह के क्रिकेट के रोचक पहेलु पर दाव लगाए गए। प्राप्त जानकारी के अनुसार शहर के कई वार्डो में इस खेल के रैकेट के संचालक बड़े आराम से बंद कमरों में पूरे एशो आराम के साथ पूरा खेल खेलाते रहे।

रिसाई पारा, रामबाग, मुकेश लुंकड गली, गणेश चौक, बनिया पारा, कोष्टा पारा वार्ड से इस खेल को खिलाया जा रहा था। वहीं इस पूरे कारोबार का तार शहर के हृदय स्थल गोलबाजार के आस पास से जुड़ा रहा। या यूं भी कहा जा सकता है कि सभी वार्डो का मुख्य केंद्र बिंदु इसी स्थल के आस पास से जुड़ा रहा।

क्लिपर 28 ने महज दो से तीन दिनों में इस काले कारनामे के बारे में अपने सूत्रों से जानकारी इकट्ठा की। गौरतलब है कि धमतरी पुलिस ने अपनी सूझ बूझ से जिले में घटे तकरीबन हर घटना, अपराध को जल्द से जल्द सुलझा कर जिले कि पुलिसिंग का लौहा मनवाते हुए अपराधियों को सलाखों के पीछे भेजा है।

रैकेट पर कार्यवाही अभी भी शेष

पर क्रिकेट सट्टे के मामले में इस सट्टे को संचालित करने वाले रैकेट पर कार्यवाही अभी भी शेष है। देखना दिलचस्प होगा कि जिले के कप्तान बालाजी राव सोमावार इस रैकेट का पर्दाफाश कब और कैसे करते है। या प्रदेश में पूर्व शासन काल में तात्कालिक सफेद पोश लोगो के संरक्षण के चलते बेधड़क बिना रोक टोक के चला रहे काला कारनामाँ प्रदेश में सत्ता परिवर्तन के बाद भी चालू रह पाता है या इस पर लगाम लगाई जाती है। यह तो आने वाला समय ही बताएग।

Back to top button