बिज़नेसराष्ट्रीय

वित्त वर्ष 21 की पहली छमाही में एजीईएल की कुल आय 15% वर्ष दर वर्ष वृद्धि दर्ज करते हुए 1,596 करोड़ रुपये हुई

ऊर्जा की बिक्री 23% वर्ष दर वर्ष बढ़ी पिछले 3.5 वर्षों में परिचालन क्षमता 46% सीएजीआर के आधार पर बढ़ी

 एजीईएल ने 1,632 करोड़ रुपये के ईवी के 205 मेगावाट सौर परिसंपत्ति को साथ लेते हुए टोटल जेवी का विस्तार किया, और जेवी के तहत कुल परिचालन पोर्टफोलियो को 2,353 मेगावाट तक पहुंचाया।
 एजीईएल की कुल परिचालन क्षमता पिछले 3.5 वर्षों में 46% के सीएजीआर पर 2,800 मेगावाट हुई।
 ~ 100% संयंत्र उपलब्धता पर सौर पोर्टफोलियो का संचालन जारी रखा।
 वित्त वर्ष 21 की दूसरी तिमाही में 1,187 मिलियन यूनिट्स ऊर्जा की बिक्री से 22% वर्ष दर वर्ष रही और वित्त वर्ष 21 की पहली छमाही में 2,569 मिलियन यूनिट्स की बिक्री से 23% वर्ष दर वर्ष रही।
 वित्त वर्ष 21 की दूसरी तिमाही में विद्युत आपूर्ति से राजस्व 15% वर्ष दर वर्ष वृद्धि दर्ज कर 530 करोड़ रुपये रहा और वित्त वर्ष 21 की पहली छमाही में 12% वर्ष दर वर्ष दर्ज कर 1,139 करोड़ रुपये रहा।
 वित्त वर्ष 21 की दूसरी तिमाही में विद्युत आपूर्ति से ईबीआईटीडीए 19% वर्ष दर वर्ष 490 करोड़ रुपये और वर्ष 21 की पहली छमाही में 15% वर्ष दर वर्ष पर 1,050 करोड़ रुपये रहा।
 वित्त वर्ष 21 की दूसरी तिमाही और पहली छमाही दोनों में बिजली आपूर्ति से ईबीआईटीडीए मार्जिन 300 बीपीएस वर्ष दर वर्ष विस्तार के साथ 92% तक रही।
 वित्त वर्ष 21 की दूसरी तिमाही नकद लाभ 80% तक वर्ष दर वर्ष पर 250 करोड़ रुपये और वित्त वर्ष 21 की पहली छमाही 69% वर्ष दर वर्ष पर 593 करोड़ रुपये रहा।*
*नकद लाभ टोटल के लिए वितरण की कटौती से पहले है जो इंडस के अनुसार वित्त लागत का हिस्सा है।

अहमदाबाद, 4 नवंबर, 2020: अदाणी ग्रुप के एक हिस्से, अदाणी ग्रीन एनर्जी लिमिटेड [“एजीईएल”], ने आज 30 सितंबर, 2020 को समाप्त हुई तिमाही और छमाही के वित्तीय परिणामों की घोषणा की। तिमाही और छमाही के लिए परिचालन प्रदर्शन के स्नैपशॉट नीचे दिए गए हैं:

परिचालन प्रदर्शन:

विवरण तिमाही प्रदर्शन छमाही प्रदर्शन
दूसरी तिमाही वित्त वर्ष 21 दूसरी तिमाही वित्त वर्ष 20 % परिवर्तन पहली छमाही
वित्त वर्ष 21 पहली छमाही
वित्त वर्ष 20 % परिवर्तन
ऊर्जा की बिक्री (मिलियन यूनिट्स) 1,187 970 22% 2,569 2,086 23%
– सौर 1,025 921 11% 2,206 1,981 11%
– पवन 162 49 231% 363 105 246%

सौर पोर्टफोलियो सीयूएफ (%) 20.7% 20.1% 60 बीपीएस 22.7% 22.7% –
पवन पोर्टफोलियो सीयूएफ(%) 30.3% 31.2% -90 बीपीएस 34.8% 33.5% 130 बीपीएस

 630 मेगावाट की क्षमता वृद्धि, लगातार सौर सीयूएफ और बेहतर पवन सीयूएफ के आधार पर, वित्त वर्ष 21 की पहली छमाही में ऊर्जा की बिक्री 23% वर्ष दर वर्ष बढ़ी।
 वित्त वर्ष 21 की पहली छमाही सौर सीयूएफ 22.7% पर स्थिर रहा, जो ~ 100% की मजबूत प्लांट उपलब्धता और सुसंगत सौर विकिरण द्वारा समर्थित 22.5% के P75 लक्ष्य से बेहतर है।
 पवन सीयूएफ वित्त वर्ष 20 की पहली छमाही के 33.5% से बेहतर होकर वित्त वर्ष 21 की पहली छमाही में 34.8% तक पहुंचा।

वित्तीय प्रदर्शन:

(रुपये करोड़ में)
विवरण तिमाही प्रदर्शन छमाही प्रदर्शन
दूसरी तिमाही वित्त वर्ष 21 दूसरी तिमाही वित्त वर्ष 20 % परिवर्तन पहली छमाही
वित्त वर्ष 21 पहली छमाही
वित्त वर्ष 20 % परिवर्तन
कुल आय 718 712 1% 1,596 1,387 15%
विद्युत आपूर्ति से राजस्व 530 461 15% 1,139 1,012 12%

विद्युत आपूर्ति से ईबीआईटीडीए 490 413 19% 1,050 915 15%
विद्युत आपूर्ति से ईबीआईटीडीए(%) 92% 89% ~300 बीपीएस 92% 89% ~300 बीपीएस

नकद लाभ* 250 139 80% 593 352 69%
*नकद लाभ टोटल को किए गए वितरण की कटौती से पहले है जो इंडस के अनुसार वित्त लागत का हिस्सा है

 वित्त वर्ष 21 की पहली छमाही में, मुख्य रूप से अतिरिक्त क्षमता, स्थिर सौर सीयूएफ और बेहतर पवन सीयूएफ के आधार पर विद्युत आपूर्ति से राजस्व और ईबीआईटीडीए क्रमश: 12% वर्ष दर वर्ष और 15% वर्ष दर वर्ष से बढ़ा ।
 उच्च ऊर्जा उत्पादन करने वाली बेहतर प्लांट उपलब्धता और ओएंडएम लागत के अनुकूलन के कारण, विद्युत आपूर्ति से ईबीआईटीडीए में वित्त वर्ष 21 की की दूसरी तिमाही और पहली छमाही दोनों में वर्ष दर वर्ष के आधार पर 300% के कारण 92% सुधार हुआ है।

एजीईएल ने 1,632 करोड़ रुपये के ईवी के 205 मेगावाट सौर परिसंपत्ति को साथ लेते हुए टोटल जेवी का विस्तार किया, और जेवी के तहत कुल परिचालन पोर्टफोलियो को 2,353 मेगावाट तक पहुंचाया:

 एजीईएल ने पंजाब, कर्नाटक और उत्तर प्रदेश स्थित एस्सेल ग्रुप से 205 मेगावाट की परिचालन सौर परिसंपत्ति का अधिग्रहण पूरा कर लिया है। यह एजीईएल द्वारा परिचालन परिसंपत्तियों का पहला अधिग्रहण है।
 एजीईएल ने इन परिसंपत्तियों को, 130 से अधिक देशों में मौजूद प्रमुख फ्रांसीसी ऊर्जा कंपनी, टोटल के साथ शुरू हुए जेवी को 1,632 करोड़ रुपये के ईवी के लिए हस्तांतरित कर दी है, और टोटल ने लेनदेन के अनुसार जेवी में 310 करोड़ रुपये का निवेश किया है।
 अधिग्रहण से जेवी के तहत कुल परिचालित रिन्‍यूएबल पोर्टफोलियो 2,353 मेगावाट का हो गया है।

कंपनी के तिमाही परिणामों पर टिप्पणी करते हुए, श्री गौतम अदाणी, चेयरमैन, अदाणी ग्रीन एनर्जी लिमिटेड ने कहा कि “दिसंबर 2015 में आयोजित ऐतिहासिक 21वें पेरिस जलवायु सम्मेलन में, हमारे माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र भाई मोदी ने दुनिया से एक आश्चर्यजनक वादा किया था कि 2022 तक भारत में 175 गीगावाट की रिन्‍यूएबल क्षमता स्‍थापित करने का लक्ष्य निर्धारित करके, भारत जलवायु परिवर्तन क्रांति का नेतृत्व करेगा। आज, भारत अपनी सीओपी21 प्रतिबद्धताओं को पूरा करने के लिए ट्रैक पर मौजूद केवल आठ देशों में से एक है। सितंबर 2019 में संयुक्त राष्ट्र के जलवायु शिखर सम्मेलन में, उन्होंने भारत की रिन्‍यूएबल क्षमता को 175 गीगावाट से अधिक करने और 2030 तक 450 गीगावाट तक ले जाने की प्रतिबद्धता दोहराई। अदाणी ग्रुप इस अटूट वादे का समर्थन करने के लिए प्रतिबद्ध है और स्‍वच्‍छ ऊर्जा के लिए राष्‍ट्र क्षरा उठाये गये का समर्थन जारी रहेगा। हम अन्य वैश्विक कंपनियों के साथ अपने जॉइंट वेंचर का विस्तार करने के लिए खुश हैं और अपने रिन्‍यूएबल प्लेटफॉर्म को बढ़ाने के लिए प्रतिबद्ध हैं। कंपनी 2025 तक 25 गीगावाट की रिन्‍यूएबल एनर्जी क्षमता प्राप्त करने और 2030 तक दुनिया की सबसे बड़ी रिन्‍यूएबल पॉवर कंपनी बनने की हमारी महत्वाकांक्षा के अनुरूप काम कर रही है।”

अदाणी ग्रीन एनर्जी लिमिटेड के एमडी और सीईओ, श्री विनीत एस. जैन ने कहा कि “अदाणी ग्रीन क्षमता निर्माण, परिचालन उत्कृष्टता और मजबूत सिस्टम तथा प्रक्रियाओं को लेकर अपने केंद्रित दृष्टिकोण के जरिये एक स्थायी भविष्य की ओर बढ़ रहा है। 2025 तक 25 गीगावॉट की स्थापित क्षमता हासिल करने के अपने लक्ष्य के अनुरूप, हमने तीव्र क्षमता को बढ़ाने में सहायता के लिए एक परिवर्तनकारी परियोजना विकास का तरीका अपनाया है और 3 साल की उन्नत साइट संसाधन आकलन, डिजाइन प्‍लानिंग, सप्‍लाई चेन प्‍लानिंग और और अन्‍य कई तरीकों के जरिये परियोजना पाइपलाइन की डी-रिस्किंग पर काम कर रहे हैं। हम हितधारकों के वैल्‍यू को बढ़ाने के उद्देश्य से, ईएसजी के लिए उद्योग की सर्वोत्तम प्रथाओं को भी लागू कर रहे हैं। वित्त वर्ष 21 की पहली छमाही के वित्तीय नतीजे एजीईएल के बिजनेस मॉडल की मजबूती के प्रमाण हैं।”

एजीईएल एक रिवॉल्‍विंग कंस्‍ट्रक्‍शन फैसिलिटी स्थापित कर रहा है जो आगामी परियोजनाओं के लिए निर्माण स्तर पर आवश्यक धन की आवश्यकता को पूरा करने में मदद करेगा। सीओडी हासिल होने के बाद, परियोजनाओं को अंतरराष्ट्रीय बॉन्ड जारी करने के साथ रिफाइनेंस किया जाएगा और कंस्‍ट्रक्‍शन फैसिलिटी को चालू किया जायेगा और यह कंस्‍ट्रक्‍शन के अगले चरण की फाइनेंसिंग करने के लिए उपलब्ध होगा।”

अदाणी ग्रीन एनर्जी लिमिटेड के बारे में

डायवर्सिफाईड अदाणी ग्रुप का हिस्सा, अदाणी ग्रीन एनर्जी लिमिटेड (एजीईएल; एनएसई: ADANI GREEN; बीएसई: 541450), के पास 14.2 गीगावाट का परिचालित, निर्माणाधीन और प्राप्‍त पवन और सौर पार्क हैं, जो इसे दुनिया का सबसे बड़ा सोलर एनर्जी डेवलपर बनाता है। कंपनी यूटिलिटी – स्‍केल वाले ग्रिड से जुड़ीं सौर और पवन कृषि परियोजनाओं का विकास, निर्माण, स्वामित्व, संचालन और रखरखाव करती है। एजीईएल के प्रमुख ग्राहकों में नेशनल थर्मल पावर कॉर्पोरेशन (एनटीपीसी) और सोलर एनर्जी कॉर्पोरेशन ऑफ़ इंडिया (एसईसीआई) और विभिन्न राज्य डिस्कॉम शामिल हैं। अधिक जानकारी के लिए, www.adanigreenenergy.com देखें।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button