पहले चरण में 3049 में से 122, तो दूसरे चरण में 2369 में से 86 अभ्यर्थी रहे सफल

वायुसेना भर्ती रैली में जिला प्रशासन के सतत् प्रयास जिले के 16 अभ्यर्थी हुए चयनित

राजशेखर नायर:
धमतरी: कलेक्टर रजत बंसल की विशेष पहल पर जिले में पहली बार आयोजित वायुसेना भर्ती रैली के परिणाम काफी सार्थक और सकारात्मक रहे हैं। यदि आंकड़ों की बात करें, तो वर्ष 2017 में रायपुर में आयोजित रैली में 204 अभ्यर्थियों का चयन हुआ था। जबकि इस बार धमतरी में हुई भर्ती रैली में चयनित अभ्यर्थियों की उक्त आंकड़े को पार कर 208 पहुंच गई, जो एक गौरवपूर्ण उपलब्धि है। दो चरणों में आयोजित रैली में प्रदेश भर के 5418 अभ्यर्थी इसमें शामिल हुए।

पहले चरण में 3049 और दूसरे चरण में 2369 अभ्यर्थियों ने वायुसैनिक बनने अपना पसीना बहाया, जिनमें से क्रमशः 122 और 86 यानी कुल जमा 208 अभ्यर्थी चयन प्रक्रिया के विभिन्न दौर से गुजरकर अपनी काबिलियत साबित करने में कामयाब रहे।

यदि जिलेवार आंकड़ों पर नजर डालें तो चयनित अभ्यर्थियों में सर्वाधिक 50 की संख्या अकेले दुर्ग जिले की रही। दूसरे स्थान पर बालोद जिला 29, तीसरे स्थान पर रायपुर जिले से 21 तथा धमतरी जिला 16 की संख्या के साथ चैथे स्थान पर रहा।

1-1 अभ्यर्थी वायुसेना में अपनी जगह बनाने में सफल

इसी प्रकार जांजगीर जिले के 14 अभ्यर्थी, राजनांदगांव के 12, रायगढ़ के 11, बिलासपुर के 9, कांकेर और बलौदाबाजार के 8-8, महासमुंद के 7, कोरबा के 4, बस्तर, सूरजपुर और कोरिया के 3-3, बेमेतरा, कबीरधाम, मुंगेली और सरगुजा जिले के 2-2 और गरियाबंद व कोंडागांव जिले से 1-1 अभ्यर्थी वायुसेना में अपनी जगह बनाने में सफल रहे। जबकि बलरामपुर, जशपुर सहित बस्तर संभाग के बीजापुर, दंतेवाड़ा, नारायणपुर और सुकमा जिले से एक भी अभ्यर्थी को इसमें सफलता नहीं मिली।

रैली में शारीरिक एवं मानसिक योग्यता परीक्षण के मामले में सर्वाधिक कटआॅफ माक्र्स लिखित परीक्षा में मिले। 13 अक्टूबर को आयोजित दौड़ में 3049 में से 1012 यानी एक-तिहाई अभ्यर्थी सफल रहे। इनमें से सिर्फ 183 अभ्यर्थी लिखित परीक्षा में और एडाॅप्टिव टेस्ट-1 में 157 और एडाॅप्टिव टेस्ट 2 (ग्रुप डिस्कशन) में 122 अभ्यर्थी ही सफल हो पाए।

दूसरे दौर में 16 अक्टूबर को आयोजित रैली में शारीरिक एवं मानसिक योग्यता परीक्षण के दौरान 2369 में से 953 अभ्यर्थी दौड़ में सफल रहे, जबकि लिखित परीक्षा में शामिल होने वाले 948 प्रतिभागियों में से 95 ही उत्तीर्ण हो सके। इसके बाद एडाॅप्टिव टेस्ट-1 में 93 और अंत में एडाप्टिव टेस्ट-2 में 86 अभ्यर्थी अंतिम रूप से चयनित हुए। चयनित अभ्यर्थियों की संख्या में हुई वृद्धि से भविष्य में और भी अच्छे परिणाम परिलक्षित हो सकते हैं।

कलेक्टर ने वायुसेना भर्ती रैली (वाय श्रेणी) में पिछले चार माह से तैयारी में जुटे नगरपालिक निगम, पुलिस विभाग, राजस्व विभाग, स्कूल शिक्षा विभाग, परिवहन विभाग, खेल विभाग, खाद्य विभाग, स्वास्थ्य विभाग, वन विभाग, जनसम्पर्क विभाग सहित प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से जुड़े अन्य विभाग सहित प्रचार-प्रसार में महती भूमिका निभाने वाले प्रिंट एवं इलेक्ट्राॅनिक मीडिया के प्रतिनिधियों, नगरवासियों के प्रति अपना आभार प्रकट किया है। उन्होंने भविष्य में जिले में होने वाले ऐसे आयोजनों सभी वर्ग से अपेक्षित सहयोग की कामना की है।

Back to top button