पिछले साढ़े तीन सालों में सरकारी बैंकों ने वसूले 10,000 करोड़ रुपये

यह आंकड़े संसद भवन में पेश किए गए एक डाटा से सामने आए

नई दिल्ली: भारत में साल 2012 तक मासिक औसत राशि पर एसबीआई चार्ज वसूल रहा लेकिन 31 मार्च 2016 से उसने ऐसा करना बंद कर दिया है। जबकि दूसरे बैंक, जिसमें कि निजी बैंक भी शामिल हैं वह अपने बोर्ड द्वारा मिली मंजूरी के मुताबिक चार्ज वसूल रहे हैं।

जानकारी के अनुसार सरकारी बैंकों ने पिछले साढ़े तीन सालों में उन लोगों से 10,000 करोड़ रुपये वसूले हैं जिन्होंने अपने बचत खाते में न्यूनतम राशि को बनाए नहीं रखा। इसके अलावा उन लोगों से चार्ज लिए गए जिन्होंने मुफ्त ट्रांजेक्शन के अलावा एटीएम से पैसा निकाला।

यह आंकड़े संसद भवन में पेश किए गए एक डाटा से सामने आए हैं।

new jindal advt tree advt
Back to top button