प्रभावशाली हस्तियों की इस लिस्ट में शमिल होने पर विराट कोहली की तारीफ़ में सचिन ने कहा..

टाइम पत्रिका की इस साल की दुनिया की 100 सबसे प्रभावशाली हस्तियों की सूची जारी की है. इसमें भारत के क्रिकेटर विराट कोहली शामिल है. सचिन उनकी जमकर तारीफ की है.

टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली को एक और नई उपलब्धि मिल गई हैं टाइम पत्रिका की इस साल की दुनिया की 100 सबसे प्रभावशाली हस्तियों की सूची जारी की है.जिसमे विराट कोहली शामिल हैं उनके अलावा सूची में कैब सेवा प्रदाता कंपनी ओला के सह संस्थापक भावीश अग्रवाल, हिंदी फिल्म अभिनेत्री दीपिका पादुकोण, और भारत में जन्मे माइक्रोसॉफ्ट के सीईओ सत्य नडेला भी नाम हैं. पत्रिका ने कहा, ‘‘दुनिया के सबसे प्रभावशाली लोगों की टाइम की वार्षिक सूची उन लोगों की सूची है जिनके बारे में हमारा मानना है कि यह समय उनका है.

’’

इस सूची में केवल छह हस्तियां ऐसी हैं जो खेल से संबंधित हैं. इन छह हस्तियों में केवल दो ही ऐसे खिलाड़ी हैं जो अमेरिका के नहीं हैं इनमें एक स्विट्जरलैंड के टेनिस मास्टर रोजर फेडरर हैं जबकि दूसरा नाम भारत के विराट कोहली का है.इस सूची में शामिल सभी हस्तियों के बारे में किसी बड़ी हस्ती ने उनकी प्रोफाइल लिखी हैं. विराट कोहली की प्रोफाइल क्रिकेट के भगवान कहे जाने वाले पूर्व भारतीय क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर ने लिखी है

.

तेंदुलकर ने की विराट की इस उपल्ब्धि पर तारीफ

सचिन तेंदुलकर ने कोहली के लिए उनकी प्रोफाइल में लिखा कि ‘‘उनकी रनों की भूख और लगातार अच्छा प्रदर्शन’’ उल्लेखनीय है तथा ये उनके ‘‘खेल की पहचान’’ बन गए हैं. बंसल ने अग्रवाल के लिए लिखा कि वह महज 32 साल की उम्र में भारत के उपभोक्ता तकनीक तंत्र के झंडाबरदार हैं. वहीं डीजल ने दीपिका के लिए लिखा कि ‘‘दीपिका दुनिया में हमें मिली सबसे अच्छी चीज हैं.’’

विराट क्रिकेट के चैम्पियन हैं

तेंदुलकर ने 2008 में खेला गया अंडर -19 क्रिकेट विश्व कप का उल्लेख करते हुए कोहली के लिए लिखा, ‘‘मैंने तब पहली बार इस युवा, जुनूनी खिलाड़ी को भारत का नेतृत्व करते देखा था. आज विराट कोहली घर घर में जाने जाना वाला नाम हैं और क्रिकेट के चैंपियन हैं. उस समय भी रनों की उनकी भूख और लगातार अच्छा प्रदर्शन उल्लेखनीय थ, यह उनके खेल की पहचान बन गए हैं.’’

सचिन ने यह भी कहा, “कोहली जिस तरह अपने आलोचकों का सामना जिस ऊंचे मनोबल से करते हैं वह काबिले तारीफ है. मेरे पिता हमेशा कहा करते थे कि यदि मैं जो कर रहा हूं उसपर ही ध्यान केंद्रित कर लेता हूं तो समय के साथ, ध्यान भटकाने वाले ही प्रशंसक बन जाते हैं. मुझे विराट में यही नजरिया नजर आता है.”
सचिन ने याद दिलाया कि किस तरह से विराट ने वेस्टइंडीज सीरीज निराशाजनक प्रदर्शन के बाद मिली आलोचनाओं को सकारात्मक रूप से लिया और लौटकर एक लक्ष्य निर्धारित किया. उन्होंने ना सिर्फ अपनी तकनीक को बेहतर किया बल्कि फिटनेस लेवल पर भी काम किया, जिसके बाद उन्होंने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा.

कोहली हैं सचिन के फैंन

विराट कोहली आज क्रिकेट के शिखर पर जरूर पहुंच गए हैं, लेकिन वे आज भी सचिन तेंदुलकर के फैंन हैं. विराट ने कई मौकों पर स्वीकार किया है कि अपने शुरुआती दिनों में वे सचिन से बहुत प्रभावित थे और उन्हें अपना आदर्श मानते थे. विराट के सचिन कितने अहम हैं इस बात का तब भी पता चला था जब सचिन मुंबई में वेस्ट इंडीज के खिलाफ अपना आखिरी टेस्ट मैच खेले थे, तो उस मैच में विराट ने सचिन के पैर छुए थे. तब कोहली ने अपने करियर में सचिन तेंदुलकर की भूमिका पर बात की थी उन्होंने कहा, ‘काफी लोग ऐसे नहीं हैं जो मेरे करीब हैं. इतने साल पर मेरा जीवन ऐसे ही चला है, क्योंकि स्वाभाविक है कि जब मुश्किल समय के दौरान कोई मेरा साथ देता है तो मैं उसका काफी सम्मान करता हूं. मैं ऐसा करना जारी रखूंगा.’ कोहली ने कहा था, ‘बड़े होते हुए क्रिकेटर के रूप में उनका मेरे ऊपर काफी प्रभाव रहा. मैं इसकी अहमियत समझता हूं. इसके बारे में बताना काफी मुश्किल है.’

Back to top button