सत्ता की लालसा में कांग्रेस में शुरू हुई सिर फुटौव्वल : कौशिक

रायपुर। भारतीय जनता पार्टी प्रदेशाध्यक्ष धरमलाल कौशिक ने छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी के कार्यकारी अध्यक्ष रामदयाल उईके द्वारा छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री पद पर अपनी दावेदारी घोषित किये जाने पर कटाक्ष करते हुए कहा कि यह तो वही बात हुई कि सूत न कपास और जुलाहों में लट्ठम-लठ। अपने अस्तित्व को बचाये रखने हेतु संघर्षरत कांग्रेस द्वारा यह सपना देखना कि छत्तीसगढ़ जैसे राज्य में वह सत्ता में वापसी कर सकती है एक दिवा स्वप्न की तरह है।

विगत 14 वर्षों में भाजपा ने डॉ. रमन सिंह के नेतृत्व में हर क्षेत्र में विकास के कीर्तिमान स्थापित करते हुए, छत्तीसगढ़ को जो कांग्रेस के ढाई वर्षों के कुशासन में बीमारू राज्य था उसे विकास की दौड़ में अग्रणी राज्यों की श्रेणी में शामिल कर दिया है तथा जनता ने अभी से अपना मन बना लिया है कि वह चौथी बार भी भारतीय जनता पार्टी को और विशाल बहुमत से विजयी बनाएगी।

कौशिक ने कहा कि दरअसल कांग्रेस के नेताओं को यह अच्छी तरह से ज्ञात है कि जनता उन्हें पूरी तरह नकार चुकी है और आगामी चुनाव में उनकी और भी अधिक दुर्गति होने वाली है। अपने मुट्ठी भर समर्थकों के बीच में अपनी साख बनाये रखने के लिए उनके नेतागण जिसमें भूपेश बघेल, टी.एस. सिंहदेव और चरणदास महंत के बाद अब रामदयाल उईके की मुख्यमंत्री की दावेदारी उनकी राजनीतिक मजबूरी से अधिक कुछ भी नहीं है।

कौशिक ने कहा कि आने वाले दिनों में इसी तरह मुंगेरी लाल के सपने देखने वाले कुछ और कांग्रेसी नेताओं से जनता का साक्षात्कार होने वाला है और जनता बिना टिकट खर्च किये कांग्रेसी तमाशे का लुत्फ उठाती रहेगी।

Back to top button