चलती ट्रेन में महिला हुई उठाईगिरी का शिकार, आरोपी पर्स छीनकर फरार

महिला सहित बोगी में बैठे यात्रियों ने घटना के बाद चेन पुलिंग की, लेकिन ट्रेन नहीं रुकी।

रायपुर। चलती ट्रेन में एक महिला उठाईगिरी का शिकार हो गई। आरोपी उसका पर्स छीनकर फरार हो गया। ट्रेन में सुरक्षाबल के जवान व टीटीई का अतापता नहीं था। घटना की शिकार महिला ने उपभोक्ता फोरम में रेलवे के खिलाफ शिकायत दर्ज की।

जिला उपभोक्ता फोरम ने महिला को 66151 रुपये सहित मानसिक क्षतिपूर्ति के रूप में 5000 रुपये देने का आदेश जारी किया है। संपर्क क्रांति एक्सप्रेस ट्रेन के स्लीपर क्लास में छह जनवरी 2015 को रायपुर सड्डू निवासी सौदामिनी मिश्राम सफर कर रही थीं। वे दिल्ली से रायपुर आ रही थीं। आगरा स्टेशन पर ट्रेन की गति धीमी हुई तभी चोर लेडीज पर्स छीनकर चलती ट्रेन से कूद गया था।

पुलिंग के बाद भी नहीं रुकी ट्रेन
महिला सहित बोगी में बैठे यात्रियों ने घटना के बाद चेन पुलिंग की, लेकिन ट्रेन नहीं रुकी। आरपीएफ, टीटीई से शिकायत करने के लिए उनकी तलाश की गई, पर कोई नहीं मिला। इसके बाद घटना की जानकारी झांसी स्टेशन के आरपीएफ में दर्ज कराई गई।

फिर सात जनवरी को थाना प्रभारी रायपुर रेलवे में घटना की शिकायत की गई। पर्स में सोने के कान के दो जोड़े टाप्स, सैमसंग ग्रैंड मोबाइल, नगद 3000 रुपये थे। रेलवे ने कहा कि परिवादिनी की लापरवाही व गैरजिम्मेदारीपूर्वक यात्रा करने की वजह से घटना हुई।

वाकई रेलवे सेवा में हुई कमी
प्रकरण का अवलोकन करने के बाद जिला फोरम की कमेटी में शामिल अध्यक्ष-उत्तरा कुमार कश्यप, सदस्य-संग्राम सिंह भुवाल, सदस्य-प्रिया अग्रवाल ने कहा कि दिनदहाड़े अज्ञात व्यक्ति के द्वारा पर्स छीनकर भाग जाना यह इंगित करता है कि रेलवे सेवा में कमी हुई। वस्तुतः आरक्षित बोगी में अनाधिकृत व्यक्तियों के प्रवेश को रोकने की जिम्मेदारी रेलवे की होती है।

Back to top button