उत्तर प्रदेशराज्य

बेटी खोजने के नाम पर दो-ढाई हजार रुपये का डीजल जबरन भरवाती रही पुलिस

बावजूद न महिला की बेटी बरामद हुई, न कोई आरोपी पकड़ा गया

कानपुर:कानपुर में विकलांग गरीब लाचार महिला की 15 साल की नाबालिग बेटी को एक महीने पहले ठाकुर नाम का व्यक्ति उठा ले गया था, जिसकी चकेरी पुलिस ने एफआईआर तो लिखी, लेकिन जांच करने वाली पुलिस उससे बेटी खोजने के नाम पर दो-ढाई हजार रुपये का डीजल जबरन भरवाती रही.

हैरानी तो ये है कि उसकी बेटी फिर भी बरामद नहीं हुई तो उसे उलटा चौकी से भगा भी दिया.मजबूर होकर गुड़िया जब एसएसपी के यहां पहुंची तो भी उसने बड़ी मासूमियत से यही कहा कि साहब झूठ नहीं बोलूंगी, पुलिस को पैसा नहीं दिया, केवल तीन-चार बार इधर-उधर से मांगकर उनकी गाड़ी में डीजल भरवाया.

गुड़िया का कहना है कि ठाकुर शादीशुदा है, फिर भी मेरी बेटी को उठा ले गया, उसके बारे में उनके घर वालों को पता है. कायदे से पुलिस को खुद अपनी गाड़ी से लड़की की तलाश करनी थी, जिसका उसे बजट भी मिलता है, लेकिन मुफ्तखोरी की लत से मजबूर पुलिस गरीब मां से ही डीजल भरवाती रही.

गुड़िया जब अपनी शिकायत लेकर एसएसपी प्रतिविन्दर सिंह के यहां पहुची तो अपनी उन्होंने मानवता दिखाई. उन्होंने पुलिस को तुरंत गुड़िया की बेटी को ढूंढने का आदेश दिया और खुद अपनी स्कॉर्ट गाड़ी से गुड़िया को 6 किलोमीटर दूर चकेरी थाने भिजवाया. अधिकारियों ने कहा कि पुलिस पर जो आरोप है, उसकी जांच करके कार्यवाही की जाएगी.

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button