बीमारी दूर करने के नाम पर 15 दिन के बच्चें के पेट पर दाग दिया गर्म सरिया

ओझा ने गरम सरिया बच्चों के पेट पर दाग दिया।

तकनीक और विज्ञान ने मनुष्य को इतना आगे बढ़ा दिया है वहीं मनुष्य आज भी अपने रूढ़िवादी सोच से उभरने को तैयार नहीं है। इस बात का सीधा संबंध आज भी समाज में फैले अंध विश्वास से है।

घटना मध्य प्रदेश के झाबुआ जिले की है जहां, 15 दिन के बीमार नवजात बच्चों को उनके माता-पिता अंधविश्वास में ओझा के पास ले गए।

ओझा ने गरम सरिया बच्चों के पेट पर दाग दिया। बीमारी ठीक होने के बजाय बच्चे बुरी तरह घायल हो गए, जिसके बाद माता-पिता बच्चों को डॉक्टर के पास ले गए। बता दें कि, पिटोल के डॉक्टर राहुल के क्लिनिक पर दोनों बच्चो को लाया गया।

एक बच्चा नरेश बिलवाल का है और दूसरा बच्चा कल सिंह का है। दोनों बच्चों को जन्म के बाद सर्दी खांसी होने से हालपिया बीमारी की आशंका में दोनों बच्चों के माता-पिता सर्दी जड़ से खत्म कराने के लिए गुजरात के जालत गांव के ओझा के पास ले गए, जहां ओझा ने गरम सरिया बच्चों के पेट पर दाग दिया।<>

1
Back to top button