छत्तीसगढ़

सुकमा जिले में जादू-टोना के शक में पुजारी की निर्मम हत्या

सुकमा।

जिले के कूकानार की ग्रामपंचायत इडजेपाल में अंधविश्वास के कारण गांव के ही पुजारी की उसके ही खेत पर निर्ममतापूर्वक हत्या किए जाने का सनसनीखेज मामला प्रकाश में आया है

प्राप्त जानकारी के अनुसार 22 नवंबर को रात्रि लगभग 11 बजे इडजेपाल के पुजारी मड़कामी हड़मा उर्फ डंका पिता हुर्रा उम्र 50 वर्ष जाति माड़िया की उसके घर से ग्राम के ही जयराम मुचाकी,मुचाकी लक्ष्मण,मुचाकी गोकुल,मन्नुराम,मुचाकी पोज्जा,मड़कामी कोशा,मुचाकी पांडु एवं अन्य अज्ञात लोगों ने ले जाकर उसके खेत पर ले जाकर नृशंसता पूर्वक हत्या कर दी।

सभी आरोपियों द्वारा हत्या कर मृतक हड़मा के परिजनो को डरा धमका कर हड़मा की लाश को जला दिया गया एवं इस संबंध में किसी को भी व पुलिस को जानकारी नही देने की धमकी दी ।

थाना प्रभारी नितेश सिंह ने बताया कि मुखबिर की सूचना के आधार पर कार्यवाही करते हुए व ग्राम इडजेपाल में जाकर पतासाजी करने पर हत्या के आरोपियों में 7 आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है। अन्य अज्ञात आरोपियों की तलाश जारी है ।

पूछताछ एव आरोपियों के कथनानुसार ग्राम इडजेपाल में काफी समय से असामयिक मृत्यु हो रही थी जिस पर ग्रामीणों ने सिरहा गुनिया,बड्डे आदि को दिखाया तो उन्होंने अंधविश्वास के कारण मृत्यु का कारण बीमारी न बताकर जादू टोना से मृत्यु हो रही है कहा ।

ग्रामीणों ने इस सभी मृत्यु के सम्बंध में पुजारी मड़कामी हड़मा पर शक किया। इसके बाद आरोपियों ने बैठक कर अंधविश्वास के चलते ग्राम के पुजारी की हत्या करने का निर्णय लिया। सातों आरोपियों को सुकमा न्यायालय में पेश कर न्यायिक रिमांड पर जेल भेज दिया गया । ग्राम पंचायत इडजेपाल के पूर्व सरपंच मुचाकी जयराम एव वर्तमान में कार्यरत रोजगार सहायक मन्नुराम भी सात आरोपियों में हैं।

Summary
Review Date
Reviewed Item
सुकमा जिले में जादू-टोना के शक में पुजारी की निर्मम हत्या
Author Rating
51star1star1star1star1star
Tags