इस मामले में आज चंदा कोचर और उनके पति दीपक कोचर से फिर होगी पूछताछ

चंदा कोचर को ED ने उन सभी संपत्तियों की लिस्ट सौंपने को कहा

नई दिल्ली: प्रवर्तन निदेशालय ने ICICI बैंक द्वारा वीडियोकॉन समूह को 1,875 करोड़ रुपये का ऋण आवंटित करने में अनियमितता और भ्रष्टाचार के आरोप में आईसीआईसीआई बैंक की पूर्व मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) चंदा कोचर और उनके पति दीपक कोचर से फिर पूछताछ करेगी.

बता दें कि यह मामला 2009 और 2011 के दौरान आईसीआईसीआई बैंक द्वारा वीडियोकॉन समूह को 1,875 करोड़ रुपये के लोन को मंजूरी देने में कथित वित्तीय अनियमितताओं और भ्रष्ट कार्यवाही से जुड़ा है. ईडी को अवैध लेन-देन से संबंधित सबूत मिले थे जिसमें दीपक कोचर की कंपनी नू पावर को करोड़ों रुपये दिए गए थे.

रिपोर्ट के मुताबिक वीडियोकॉन समूह के वेणुगोपाल धूत ने कथित रूप से नू पावर रीन्यूवेबल्स लिमिटेड में अपनी कंपनी सुप्रीम एनर्जी के जरिए से निवेश किया था जिसके बदले में कहा गया था कि चंदा कोचर ICICI बैंक से ऋण को मंजूरी दिला देंगी.

सूत्रों ने कहा कि मामले के जांच अधिकारी को जांच आगे बढ़ाने के लिए कोचर से पूछताछ की जरूरत है. जांच एजेंसी पीएमएलए के तहत उनका बयान दर्ज करेंगी. मामले में प्रवर्तन निदेशालय ने इसी साल एक मार्च को छापेमारी के बाद भी चंदा कोचर और उनके पति से ईडी के मुंबई कार्यालय में पूछताछ की थी. ईडी ने चंदा कोचर, उनके परिवार और वीडियोकॉन समूह के वेणुगोपाल धूत के मुंबई और औरंगाबाद ठिकानों पर छापेमारी की गई थी.

सूत्र बताते हैं कि चंदा कोचर को ED ने उन संपत्तियों की लिस्ट सौंपने को कहा है जो उन्होंने रिजर्व बैंक, सेबी को तब सौंपे थे जब वो ICICI बैंक की मुखिया थीं.

Back to top button