इस चुनाव में मैं किंगमेकर नहीं, किंग ही रहूंगाः जोगी

रायपुर।

चुनाव से काफी पहले निर्वाचन सीट, गठबंधन और तमाम वजहों से सुर्खियों में रहे जोगी कांग्रेस के सुप्रीमो अजीत जोगी ने एक बार फिर सियासी हवा दी है। उन्होंने कहा- मैं किंगमेकर नहीं, किंग हूं। बसपा के साथ गठबंधन की सरकार के लिए बेस्ट ऑप्शन पूछने पर कहा कि 11 दिसंबर को आने वाला अंकगणित तय करेगा। क्या आपसे कोई चूक हुई? इस पर जोगी का कहना है कि चूक नहीं। कमी यह रह गई कि मैं अपने-आपको कभी कांग्रेस से अलग नहीं कर सका।

एक तबका रह गया जो मानता रहा कि मैं अभी भी कांग्रेस में ही हूं। यही बड़ी कमी रह गई। इसका मुख्य कारण यह कि सिंबल मिलने के बाद चुनाव के लिए कम समय में मैं लोगों तक नहीं पहुंच सका। इससे पार्टी को करीब 8-10 फीसदी वोटों का नुकसान उठाना पड़ा है। खासकर बैकवर्ड इलाकों में।

प्रदेश में सरकार बनाने के भाजपा-कांग्रेस के दावों के बीच जोगी ने त्रिशंकु विधानसभा की संभावना भी जताई। दोनों चरणों की पोलिंग निपटने का बाद राजनेता और पार्टियां नतीजों के गुणा-भाग में व्यस्त हैं। धुआंधार प्रचार अभियान के बाद जोगी सपरिवार चंद रोज कि लिए गोवा जा रहे हैं। इससे पहले उन्होंने भास्कर से चर्चा की।

बीजेपी और कांग्रेस के खिलाफ जोगी कांग्रेस

बसपा गठबंधन कितना कारगर रहा, इस सवाल पर उन्होंने कहा कि वे एक नई पार्टी, नए सिंबल के साथ चुनाव में उतरे थे। एक बड़ी चुनौती थी। इसके बावजूद इतने कम समय में वोटर्स का इतना अच्छा समर्थन हमें मिला। मैं आश्वस्त हूं कि हम पर्याप्त सीटें पाएंगे और सरकार बनाएंगे।

जोगी ने दावा किया कि दोनों राष्ट्रीय पार्टियों को इतनी सीटें नहीं मिल सकती कि वे अपने दम पर सरकार बना लें। यानी क्या छत्तीसगढ़ त्रिशंकु विधानसभा की ओर बढ़ रहा है? इस पर जोगी ने कहा कि कोई भी परिणाम संभव है। तीनों में से कोई भी जीत सकता है, कोई भी हार सकता है।

1
Back to top button