महाविद्यालय में फिनीशिग स्कूल योजना के तहत 3 दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम का शुभारम्भ

महाविद्यालय के प्रभारी प्राचार्य डॉ. प्रीति शर्मा ने बताया कि सामान्य शिक्षा के साथ व्यक्तित्व विकास के लिए भाषा, नैतिक मूल्य, एवं स्किल्स एनहान्समेन्ट आवश्यक है

रायपुर : यूजीसी के निर्देश पर आधारित फिनीशिग स्कूल योजना के तहत शा. दू ब महिला महाविद्यालय के गॄहविज्ञान विभाग एवं मनोविज्ञान विभाग के संयुक्त तत्वावधान में आज दिनाँक 06-08/12/2021 तक तीन दिवसीय पर्सनल ग्रूमीग प्रशिक्षण कार्यक्रम का शुभारम्भ किया गया।

प्रभारी प्राचार्य डॉ. प्रीति शर्मा ने बताया

उक्त कार्यक्रम में महाविद्यालय के प्रभारी प्राचार्य डॉ. प्रीति शर्मा ने बताया कि सामान्य शिक्षा के साथ व्यक्तित्व विकास के लिए भाषा, नैतिक मूल्य, एवं स्किल्स एनहान्समेन्ट आवश्यक है, महाविद्यालय के आई क्यू ए सी प्रभारी डॉ उषाकिरण अग्रवाल ने बताया कि ऐसे कार्यक्रम छात्राओं के सर्वागीण विकास में सहायक होगे ,गॄहविज्ञान विभाग की विभागाध्यक्ष डॉ ज्योति तिवारी ने कहा कि पर्सनल ग्रूमीग का जीवन में बहुत महत्व है, मेक अप, केशसज्जा एवं वस्त्र चयन व्यक्तित्वको निखारते है,

कार्यक्रम की संयोजक द्वय डॉ अभया जोगलेकर एवं डॉ वासु वर्मा ने इस योजना की जानकारी प्रदान की ,एवं छात्राओं को आश्वस्त किया कि ऐसे कार्यक्रम सतत् होगे। इस कार्यक्रम में विशेष रूप प्रशिक्षक के रूप में श्रीमति अलका भादुड़ी उपस्थित थी। पहले दिन छात्राओं को त्वचा की देखभाल करने से संबंधित जानकारी प्रदान की, दूसरे दिन केशसज्जा एवं तीसरे दिन मेकअप एवं साड़ी पहनने के विभिन्न प्रकार सीखाए जाएंगे।

इस कार्यक्रम विभिन्न संकायों की 50 छात्राओं ने उत्साहपूर्वक अपनी भागीदारी दी। आज छात्राओं को विभिन्न प्रकार के केशसज्जा का प्रशिक्षण दिया गया। आज के कार्यक्रम का संचालन गॄहविज्ञान विभाग की डॉ. नंदा गुरवारा के द्वारा किया गया, इस कार्यक्रम में डॉ रश्मि मिज, डॉ अनुभा झा, डॉ अलका वर्मा डॉ रेखा दीवान, विदेह नंदिनी एवं अन्य अधिकारी विशेष रूप से उपस्थित रहे।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button