छत्तीसगढ़

धान के समर्थन मूल्य में वृद्धि और कर्ज माफी से किसानों के खिले चेहरे

जिले के 92 हजार से अधिक किसानों को मिला फायदा

रायपुर। छत्तीसगढ़ शासन द्वारा धान खरीदी के समर्थन मूल्य बढ़ाने और किसानों के कर्ज माफ करने से बिलासपुर जिले के भी किसानों के चेहरे में खुशी झलक रही है। समर्थन मूल्य में वृद्धि से जिले के सहकारी समितियों में पंजीकृत 92 हजार से अधिक किसानों को फायदा मिला है।

शासन द्वारा धान खरीदी का समर्थन मूल्य 2500 रूपये प्रति क्विंटल करने के निर्णय पर बिलासपुर जिले के ग्राम संबलपुर (विकासखण्ड तखतपुर ) के किसान कैलाश चन्द्र साहू ने अपनी खुशी का इजहार करते हुए कहा कि उन्हें अपनी बेटी की शादी की चिंता खाए जा रही थी, लेकिन अब उसकी चिंता दूर हो गई है। उसके पास डेढ़ एकड़ जमीन है, जिसमें लगभग 22 क्विंटल धान की पैदावार हुई है। साथ ही उस पर 22 हजार रूपये का कर्ज भी है, जो उसने फसल के लिए सहकारी बैंक से लिया था। अब उन्हें धान का समर्थन मूल्य ज्यादा मिला है तथा कर्ज भी माफ हो गया है।

सकरी के किसान मेहतरू राम यादव के पास 4 एकड़ 64 डिसमिल जमीन है, जिसमें उन्होंनेे लगभग 80 क्विंटल धान की फसल ली है। 63 वर्ष के इस बुजुर्ग किसान के उपर 53 हजार रूपये का कर्ज भी था। मेहतरू का कहना है कि शासन के निर्णय से किसान खुशहाल हो गये हैं। वे भी अब ज्यादा मेहनत से खेती करेंगे और ज्यादा मुनाफा कमाएंगे। ग्राम बहतराई विकासखण्ड तखतपुर के किसान दाउराम कौशिक के पास दो एकड़ खेत है, जिसमें उसे 40 क्विंटल धान प्राप्त हुआ है।

उसके उपर 19 हजार रूपये का बैंक कर्ज था। दाउराम के चेहरे पर खुशी झलक रही है क्योंकि अब उसको ज्यादा फायदा हुआ है और कर्ज भी नहीं चुकाना पड़ा। उनका कहना है कि खेती से होने वाली ज्यादा आमदनी से वह अपने घर की मरम्मत कराएंगे। ग्राम बहतराई के लघु एवं सीमांत किसान रामकुमार पाल के पास भी दो एकड़ जमीन है, जिसमें वे लगभग 40 क्विंटल धान प्राप्त करते हैं। रामकुमार का भी कहना है कि समर्थन मूल्य बढ़ने और कर्ज माफी से इसकी आर्थिक स्थिति ठीक हो गई है और वह अपनी खेती-बाड़ी का कार्य और अच्छे से कर पाएंगे।

Tags
Back to top button