छत्तीसगढ़

कोरोना संक्रमण से बचाव के लिये बेड व वेंटिलेटर की संख्या बढ़ाये, जांच में तेजी लायें : प्रभारी मंत्री साहू

वीडियो कांफ्रेंसिग से जिले के अधिकारियों की बैठक ली

ब्यूरो मिश्रा : विपुल मिश्रा

बिलासपुर, 04 सितम्बर 2020। प्रदेश के गृह, जेल, लोक निर्माण विभाग तथा सहकारिता मंत्री तथा जिले के प्रभारी मंत्री ताम्रध्वज साहू ने कोरोना संक्रमण से बचाव के लिये अस्पतालों में बेड एवं वेंटिलेटर की संख्या बढ़ाने तथा होम आइसोलेशन की अच्छी व्यवस्था करने का निर्देश दिया है।

साहू ने आज वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से जिले के अधिकारियों की बैठक ली। उन्होंने कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों की समीक्षा करते हुए स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिया कि अस्पतालों में मरीजों की दवाईयों के अलावा भोजन, नाश्ता की अच्छी व्यवस्था रखी जाये। इस मामले में कोई शिकायत नहीं मिलनी चाहिये। उन्होंने प्रतिदिन कोरोना जांच के लिये ज्यादा से ज्यादा सैम्पल लेने का निर्देश दिया। उन्होंने सिम्स के अलावा अपोलो तथा अन्य प्राइवेट अस्पताल के संचालकों की बैठक लेकर उन्हें कोरोना मरीजों के इलाज के लिये बेहतर व्यवस्था बनाने के निर्देश दिये जायें ताकि मरीजों को रायपुर रेफर न करना पड़े।

प्रभारी मंत्री साहू ने अस्पतालों में उपलब्ध वेंटिलेटर, बेड व अन्य व्यवस्थाओं की जानकारी ली। उन्हें बताया गया कि जिला अस्पताल में 40 तथा निजी अस्पतालों में 30 वेंटिलेटर अभी उपलब्ध हैं। अन्य प्राइवेट अस्पतालों से बात चल रही है जिससे वेंटिलेटर की संख्या बढ़कर 96 हो जायेगी। श्री साहू ने जिला प्रशासन के अधिकारियों को कोविड अस्पतालों का औचक निरीक्षण करने कहा ताकि वहां की व्यवस्था निरंतर अच्छी हो सके।

गोधन न्याय योजना की समीक्षा

बैठक में प्रभारी मंत्री ने गोधन न्याय योजना की समीक्षा की। जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी गजेन्द्र सिंह ठाकुर ने बताया कि जिले में 22 हजार 400 क्विंटल गोबर खरीदा गया है और गौ पालकों को 17 लाख 68 हजार से अधिक राशि का भुगतान भी किया गया है। श्री साहू ने वर्मी कम्पोस्ट के लिये टैंक बनाने और खाद तैयार करने के बारे में जानकारी ली। सीईओ ने बताया कि 8 हजार क्विंटल वर्मी खाद बनाकर बेचा जा चुका है। प्रभारी मंत्री ने जिले में चल रहे गौठान निर्माण की भी समीक्षा की।

सीईओ ने बताया कि इस वर्ष जिले में 16 लाख से अधिक पौधे अलग-अलग विभागों द्वारा रोपे गये हैं।

चबूतरों में शेड निर्माण का भी प्राक्कलन

प्रभारी मंत्री को यह भी जानकारी दी कि धान खरीदी केन्द्रों में 90 चबूतरे स्वीकृत किये गये हैं, सभी का निर्माण मनरेगा के अंतर्गत कर लिया गया है। उन्होंने इन चबूतरों में शेड निर्माण का भी प्राक्कलन तैयार करने कहा है ताकि धान ढंकने के लिये तारपोलिन की जरूरत न पड़े।
प्रभारी मंत्री ने बताया कि सहकारी समितियों का परिसीमन की प्रक्रिया चल रही है जो बड़ी समितियां हैं उन्हें छोटा किया जायेगा। इसके लिये दावा-आपत्ति 10 सितम्बर मांगी गई है। श्री साहू ने इस ओर प्राथमिकता से ध्यान देने के लिये कहा।

धान संग्रहण केन्द्रों में विगत वर्ष के धान के उठाव, मिलिंग की प्रगति के बारे में जानकारी ली। धान मिलिंग की गति कम होने पर उन्होंने असंतोष जताया और अन्य जिलों के जो मिलर्स खाली हों, उनसे भी धान मिलिंग कराने कहा।

प्रभारी मंत्री ने बाढ़ से फसल को हुए नुकसान की जानकारी ली। कृषि अधिकारी ने बताया कि फसल की स्थिति अच्छी है। बाढ़ के कारण तखतपुर व मस्तूरी में नदियों के किनारे फसल को क्षति हुई है। मंत्री ने कहा कि फसल के नुकसान का सही आकलन करायें। मंत्री को बताया गया कि जिले में यूरिया पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध है।

प्रभारी मंत्री साहू ने प्रवासी मजदूरों के राशन कार्ड

प्रभारी मंत्री साहू ने प्रवासी मजदूरों के राशन कार्ड, पीडीएस खाद्यान्न वितरण, अंग्रेजी माध्यम स्कूल, पूरक पोषण आहार वितरण व राजस्व के मामलों की समीक्षा की। उन्होंने ऋण पुस्तिका, नामांतरण आदि के काम में तेजी लाने का निर्देश दिया।

प्रभारी मंत्री ने कानून व्यवस्था, सीवरेज निर्माण, अमृत मिशन, स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट, पेयजल, हैंडपम्पों में क्लोरीनीकरण की समीक्षा की।
उन्होंने सभी विभागों के लिये अगले बजट की तैयारी अभी से करने के लिये कहा। जिन कार्यों की स्वीकृति नहीं मिली है उनकी समीक्षा कर फिर से प्रस्ताव भेजने कहा।

उन्होंने जिले में सड़कों की स्थिति की समीक्षा करते हुए मुआवजा के प्रकरणों का शीघ्र निपटारा करने कहा।

प्रभारी मंत्री साहू ने जिले में बिजली की सुचारू आपूर्ति के लिये आवश्यकता अनुसार प्रस्ताव भेजने कहा।
बैठक में पुलिस अधीक्षक प्रशांत अग्रवाल, एडीएम बीएस उइके, नगर निगम आयुक्त प्रभाकर पांडेय सहित सम्बन्धित विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button