प्रोटीन से भरपूर भारतीय गेंहू ‘भालिया’ की बढ़ी डिमांड, विदेश में किया जा रहा निर्यात

भालिया किस्म के गेहूं जीआई प्रमाणित के साथ ही प्रोटीन की मात्रा से भरपूर होते हैं और यह स्वाद में मीठा होता है।

delhi: देश में रिकॉर्ड पैदावार के बाद अब गेहूं का निर्यात भी शुरू हो गया है। इसी क्रम में जीआई (भौगोलिक संकेतक) प्रमाणित भालिया किस्म के गेहूं की पहली खेप गुजरात से केन्या और श्रीलंका को निर्यात की गई। भालिया किस्म के गेहूं जीआई प्रमाणित के साथ ही प्रोटीन की मात्रा से भरपूर होते हैं और यह स्वाद में मीठा होता है। भालिया फसल प्रमुख रूप से गुजरात के भाल क्षेत्र में पैदा की जाती है। भाल क्षेत्र में अहमदाबाद, आनंद, खेड़ा, भावनगर, सुरेंद्रनगर, भरूच जिले शामिल हैं।

गेहूं की भालिया किस्म की विशेषताएं

>बारिश के मौसम में बिना सिंचाई के उगाया जाता है
>भालिया गेहूं को सिंचाई या बारिश की आवश्यकता नहीं है क्योंकि वे संरक्षित मिट्टी की नमी पर खेती की जाती है
>गुजरात में लगभग दो लाख हेक्टेयर कृषि योग्य भूमि में इसकी खेती की जाती है
>गेहूं की भालिया किस्म को जुलाई, 2011 में जीआई प्रमाणन प्राप्त हुआ था
>जीआई प्रमाणीकरण का पंजीकृत प्रोपराइटर आणंद कृषि विश्वविद्यालय है
>भालिया गेहूं में ग्लूटेन पाया जाता है, जो एक प्रकार का अमीनो में समृद्ध है।
>इसमें उच्च मात्रा में कैरोटीन है और पानी का अवशोषण कम है।
>इस किस्म का उपयोग सूजी तैयार करने के लिए किया जाता है

गेहूं निर्यात को मिलेगा बढ़ावा

इस पहल से भारत से गेहूं निर्यात को बढ़ावा मिलने की उम्मीद है। वर्ष 2020-21 में, भारत से 4,034 करोड़ रुपये का गेहूं निर्यात किया गया, जो कि उसके पहले की वर्ष की तुलना में 808 फीसदी ज्यादा था। उस अवधि में 444 करोड़ रुपये का गेहूं निर्यात किया गया था। अमेरिकी डॉलर के लिहाज से वर्ष 2020-21 में गेहूं का निर्यात 778 फीसदी बढ़कर 549 मिलियन डॉलर हो गया है।

2020-21 में 7 नए देशों को अनाज का किया गया निर्यात

भारत ने वर्ष 2020-21 के दौरान यमन, इंडोनेशिया, भूटान, फिलीपींस, ईरान, कंबोडिया और म्यांमार जैसे 7 नए देशों को पर्याप्त मात्रा में अनाज का निर्यात किया। वहीं पिछले वित्तीय वर्षों में, इन देशों को थोड़ी मात्रा में गेहूं का निर्यात किया गया था। वर्ष 2018-19 में इन सात देशों को गेहूं का निर्यात नहीं हुआ और 2019-20 में केवल 4 मीट्रिक टन अनाज का निर्यात किया गया। इन देशों को भारत से गेहूं के निर्यात की मात्रा 2020-21 में बढ़कर 1.48 लाख टन हो गई है।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button