यूक्रेन की सीमा पर बढ़ी हुई सैन्य मौजूदगी अब भी बरकरार -नेता

“10 प्रतिशत से भी कम सैनिकों” को वहां से हटाया

कीव:

इसके जवाब में कीव ने रूस की सीमा से लगने वाले 10 क्षेत्रों में 30 दिन के लिए मार्शल लॉ लगा दिया था जिसके बाद से दोनों पड़ोसी देशों के संबंधों में अभूतपूर्व संकट पैदा हो गया.

लेकिन यूक्रेन और रूस के बीच नवंबर से तनाव बढ़ने के बाद से यूक्रेन की सीमा पर बढ़ी हुई सैन्य मौजूदगी को बरकरार रखते हुए रूस ने अब तक अपने बलों के “10 प्रतिशत से भी कम सैनिकों” को वहां से हटाया है.

यूक्रेन के राष्ट्रपति पेट्रो पोरोशेंको ने संवाददाता सम्मेलन में कहा, “सबसे बड़ा हिस्सा (सैन्य दलों का) अभी भी वहां है, 10 प्रतिशत से भी कम को वापस बुलाया गया.”

पोरोशेंको ने नवंबर के आखिर में काला सागर में रूस के साथ समुद्री संघर्ष के बाद से रूस के सीमा पर तेजी से सैन्य मौजूदगी बढ़ाने का आरोप लगाया था जिसकी प्रतिक्रिया में यूक्रेन ने “बड़े युद्ध” की चेतावनी दी थी.

पोरोशेंको ने कहा, ‘‘यूक्रेन की सीमा पर रूसी सैन्य बलों की घुसपैठ का खतरा अब भी मौजूद है और हमें इसकी तैयारी करनी चाहिए. ” साथ ही पोरोशेंको ने कहा कि उन्हें मार्शल लॉ हटाए जाने का कोई कारण नजर नहीं आता. रूस ने 25 नवंबर को यूक्रेन के तीन नौसैन्य पोतों को जब्त कर चालक दल के 24 सदस्यों को हिरासत में ले लिया था.

advt
Back to top button