पुलिस परिवार के आंदोलन में भीड़ बढ़ाने आए 35 फर्जी युवाओं को पुलिस ने पकड़ा

बिलासपुर।

पुलिसकर्मी के परिजनों द्वारा किया जा रहा आंदोलन कहीं किसी साजिश का हिस्सा तो नहीं है ? यह सवाल इसलिए उठ रहे हैं क्योंकि पुलिस ने आज ऐसे 35 युवाओं को पकड़ा है जो पुलिस के परिजन हैं ही नहीं।

यह युवा आंदोलन में भीड़ बढ़ाने के लिए आए थे। बिलासपुर पुलिस के हत्थे चढ़े यह सभी नौजवान मस्तूरी, पामगढ़ के हैं, पकड़े जाने के बाद उन्हें समझाइस देकर वापस गांव भेज दिया गया है।

एडिशनल एसपी नीरज चंद्राकर के मुताबिक 30-35 नौजवानों को फर्जी तरीके से पुलिस के परिजन बताकर ले जाया जा रहा था, जिन्हें पकड़ा गया था। रायपुर में इनसे पूछताछ की गयी, तो उन्होंने स्वीकार किया कि वो पुलिस परिवार से नहीं है, लेकिन उन्हें आंदोलन में भेजा गया था। इन युवकों ने बलौदाबाजार जिले में पदस्थ पुलिस कांस्टेबल कृष्णा राय और एक अन्य कांस्टेबल का नाम लिया है।

जिन्होंने किसी के माध्यम से इन युवाओं को रायपुर जाने के लिए तैयार किया था। इधर युवाओं को समझा-बुझाकर वापस उनके गाँव भेज दिया गया है।

new jindal advt tree advt
Back to top button