Ind vs Aus: भारतीय टीम को जीत दिलाने में आज टीम में चहल की अहम भूमिका

क्योंकि यह आईपीएल का उनका होम ग्राउंड है और इस मैदान से उनकी कई सुनहरी यादें जुड़ी हुई हैं।

भारत को बुधवार को बेंगलुरु में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सीरीज हार से बचने के लिए दूसरे टी20 मैच को हर हाल में जीतना होगा।

चिन्नास्वामी स्टेडियम में होने वाले इस मैच में भारतीय टीम को जीत दिलाने में स्पिनर युजवेंद्र चहल को अहम भूमिका निभानी होगी|

क्योंकि यह आईपीएल का उनका होम ग्राउंड है और इस मैदान से उनकी कई सुनहरी यादें जुड़ी हुई हैं।

28 वर्षीय चहल ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ विशाखापत्तनम में पहले टी20 मैच में निराश किया था और वे 28 रन देकर मात्र 1 विकेट ले पाए थे|

लेकिन अपने पसंदीदा मैदान पर इस कलाई के स्पिनर से टीम इंडिया को दमदार प्रदर्शन की उम्मीद रहेगी।

चहल को इस रनों से लबरेज मैदान पर भी कसावट भरी गेंदबाजी करने का लंबा अनुभव है।

इसी मैदान पर आईपीएल में रॉयल चैलेंजर्स बंगलोर (आरसीबी) की तरफ से शानदार प्रदर्शन कर चहल ने भारतीय कप्तान विराट का विश्वास हासिल कर टीम इंडिया में जगह बनाई थी।

कुलदीप यादव के साथ चहल की जोड़ी बनी और इन दोनों युवा स्पिनरों ने इंटरनेशनल क्रिकेट में अपने मायाजाल में दुनियाभर के बल्लेबाजों को उलझाया।

कुलदीप को ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टी20 सीरीज के लिए आराम दिया गया है इसके चलते पूरी जिम्मेदारी चहल पर आ गई है क्योंकि टीम में उनके साथ नए स्पिनर मयंक मार्कंडे मौजूद है।

इंग्लैंड के खिलाफ किया था रिकॉर्ड प्रदर्शन :

चहल के लिए यह मैदान बहुत लकी है क्योंकि उन्होंने 1 फरवरी 2017 को इंग्लैंड के खिलाफ यहां पर तीसरे टी20 मैच में कहर बरपाया था।

चहल ने उस मैच में 25 रनों पर 6 विकेट लिए थे, जो इंटरनेशनल टी20 क्रिकेट में किसी भी भारतीय गेंदबाज का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन था।

चहल ने इस मैच में जो रूट, इयोन मॉर्गन, बेन स्टोक्स, मोईन अली, सैम बिलिंग्स और क्रिस जॉर्डन जैसे दिग्गजों का शिकार किया था।

इस मैच से पहले किसी भारतीय गेंदबाज ने टी20 मैच में 5 विकेट भी नहीं लिए थे।

तीसरा सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन :

चहल ने इंग्लैंड के खिलाफ 25 रनों पर 6 विकेट लिए थे जो इंटरनेशनल टी20 क्रिकेट में किसी भी गेंदबाज का तीसरा सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है।

इससे बेहतर दोनों प्रदर्शन श्रीलंकाई रहस्यमयी स्पिनर अजंथा मेंडिस ने किए थे। मेंडिस ने 18 सितंबर 2012 में हम्बनटोटा में जिम्बाब्वे के खिलाफ 8 रनों पर 6 विकेट लिए थे।

मेंडिस ने 8 अगस्त 2011 को पालेकेले में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 16 रनों पर 6 विकेट अपनी झोली में डाले थे।

चहल का करियर :

चहल ने 18 जून 2016 को जिम्बाब्वे के खिलाफ हरारे में इंटरनेशनल टी20 डेब्यू किया था।

वे अभी तक 30 मैचों में 20.10 की औसत से 46 विकेट ले चुके हैं।

वे इस फॉर्मेट में रविचंद्रन अश्विन और जसप्रीत बुमराह के बाद भारत के तीसरे सफल गेंदबाज हैं।

वे 40 वनडे मैचों में 23.83 की औसत से 71 शिकार कर चुके हैं।

1
Back to top button