Ind vs Aus: Aus के खिलाफ़ टीम चुनते वक्त बीसीसीआई रखेगी इन बातों का ध्यान

विश्व कप से पहले यह उसका अंतिम इंटरनेशनल इवेंट रहेगा|

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ आगामी वनडे सीरीज के लिए शुक्रवार को टीम चुनते वक्त बीसीसीआई के सिलेक्टर मई में शुरू होने जा रहे विश्व कप को ध्यान में रखेंगे।

भारत को कंगारू टीम के खिलाफ दो टी20 मैच और पांच वनडे मैच खेलना है और विश्व कप से पहले यह उसका अंतिम इंटरनेशनल इवेंट रहेगा|

इसलिए सिलेक्टर्स अपने टीम कॉम्बिनेशन को अंतिम रूप देना चाहेंगे। विश्व कप के लिए टीम में अधिकांश खिलाड़ियों की जगह तय है|

खाली बचे स्थानों के दावेदार इस घरेलू सीरीज के दौरान धमाकेदार प्रदर्शन करना चाहेंगे। बाएं हाथ के तेज गेंदबाजों खलील अहमद और जयदेव उनादकट के बीच एक स्थान की जगं रहेगी।

इसी प्रकार दूसरे स्पेशलिस्ट विकेटकीपर के लिए दिनेश कार्तिक और रिषभ पंत के बीच जद्दोजहद जारी हैं।

इंग्लैंड लॉयंस के खिलाफ अनाधिकारिक टेस्ट मैचों में उम्दा प्रदर्शन के बाद केएल राहुल ने भी तीसरे ओपनर के लिए दावेदारी पेश कर दी है।

पांच वनडे मैचों की सीरीज के पहले दो टी20 मैच खेले जाएंगे और संकेतों के अनुसार उपकप्तान रोहित शर्मा को इस टी20 सीरीज के लिए आराम दिया जा सकता है|

ताकि वे वनडे सीरीज में तरोताजा होकर मोर्चा संभाल सके। सिलेक्टर विश्व कप के लिए 13 खिलाड़ियों (विराट कोहली, शिखर धवन, रोहित शर्मा, अंबाती रायुडू, महेंद्रसिंह धोनी, केदार जाधव, हार्दिक पांड्या, विजय शंकर, युजवेंद्र चहल, कुलदीप यादव, भुवनेश्वर कुमार, जसप्रीत बुमराह और मोहम्मद शमी) के नाम लगभग तय कर चुके हैं।

कप्तान विराट कोहली और जसप्रीत बुमराह आराम के बाद इस सीरीज में मैदान पर नजर आएंगे।

टीम प्रबंधन अपनी रणनीति के अनुसार शेष दो स्थानों के दावेदारों को इस सीरीज में आजमाना चाहेगा।

बुमराह, शमी और भुवी का खेलना तय है और वैरायटी के रूप में प्रबंधन एक बाएं हाथ के तेज गेंदबाज को टीम में चुनना चाहेगा।

राजस्थान के खलील अहमद को ऑस्ट्रेलिया-न्यूजीलैंड में मौका दिया गया था और वे विश्व कप की टीम में शामिल हो सकते हैं।

रणजी ट्रॉफी में सौराष्ट्र को फाइनल में पहुंचाने वाले जयदेव उनादकट भी दावेदार बन गए हैं।

इसी प्रकार दूसरे विकेटकीपर के लिए कार्तिक और पंत में से किसी एक को मौका मिलेगा।

पंत तीसरे ओपनर के रूप में भी शामिल किए जा सकते हैं। केएल राहुल को टीम प्रबंधन का समर्थन हासिल है इसलिए उनकी दावेदारी को नजरअंदाज नहीं किया जा सकता है।

Back to top button