IND vs AUS: गेंदबाजों के उम्दा प्रयासों का उचित रूप से सहयोग करे – कोहली

भारत के गेंदबाजों ने दो टेस्ट मैचों में शानदार प्रदर्शन कर 40 विकेट झटके।

भारतीय कप्तान विराट कोहली ने बुधवार से ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ तीसरे टेस्ट से पहले अपने बल्लेबाजों से अपील की कि वे गेंदबाजों के उम्दा प्रयासों का उचित रूप से सहयोग करे।

विराट ने पर्थ में दूसरे टेस्ट मैच में शतक लगाया था जबकि एडिलेड में पहले टेस्ट मैच की जीत में चेतेश्वर पुजारा ने महत्वपूर्ण योगदान दिया था।

इन दोनों को छोड़कर कोई भी बल्लेबाज प्रभावी प्रदर्शन नहीं कर पाया है। भारत के गेंदबाजों ने दो टेस्ट मैचों में शानदार प्रदर्शन कर 40 विकेट झटके।

कोहली ने तीसरे टेस्ट की पूर्व संध्या पर कहा, हम जो स्कोर बना रहे है वह जीत के लिए नाकाफी है। सभी को पता है कि हमारे गेंदबाज दमदार प्रदर्शन कर रहे हैं लेकिन उनके पास बचाव के लिए पर्याप्त स्कोर तो होना चाहिए।

यदि हम बाद में बल्लेबाजी कर रहे हो तो लीड लेनी होगी या विपक्षी टीम के स्कोर के करीब पहुंचना होगा। यदि स्कोर करीब बराबर रहा तो यह दूसरी पारी का मैच हो जाएगा और यदि हमने बढ़त हासिल कर ली तो उसका लाभ उठाना होगा।

बल्लेबाजों को सामूहिक प्रयास करना होगा। मैं व्यक्तिगत तौर पर नहीं कहूंगा कि किसी को क्या करने की जरूरत है लेकिन बल्लेबाजी इकाई के रूप में निश्चित तौर पर हमें बेहतर प्रदर्शन करना होगा।’

भारतीय कप्तान ने हालांकि स्पष्ट किया कि मेलबर्न टेस्ट पर उनकी एडिलेड टेस्ट में जीत या पर्थ टेस्ट में हार का कोई असर नहीं पड़ेगा।

उन्होंने कहा, ‘एक टीम के रूप में मुझे नहीं लगता कि 2-0 से आगे होने, 0-2 से पिछड़ने या 1-1 से बराबर होने का इस पर कोई असर पड़ता है कि अगले दो टेस्ट में क्या होने वाला है।’

कोहली ने लियोन को सराहा

नाथन लियोन ने अब तक दो टेस्ट में 16 विकेट चटकाकर भारतीय बल्लेबाजों को काफी परेशान किया है और कोहली ने इस ऑफ स्पिनर की जमकर तारीफ की।

उन्होंने कहा, ‘लियोन काफी अच्छा गेंदबाज है। वह लगातार अच्छे क्षेत्र में गेंदबाजी करता है। इस तरह के गेंदबाज के खिलाफ हमारे पास योजना होनी चाहिए|

जिससे कि हम रन बनाने के विकल्पों को भी ढूंढ सकें क्योंकि अगर उसे लंबे समय तक एक ही जगह पर गेंदबाजी करने दी जाए तो वो और अधिक खतरनाक बन जाएगा।’

लियोन का प्रदर्शन इसलिए भी विशेष है कि उन्होंने अपने अधिकांश टेस्ट मैच ऑस्ट्रेलिया में खेले। उन्होंने कहा, ‘अगर कोई स्पिनर ऑस्ट्रेलिया में इतनी अच्छी गेंदबाजी करता है तो यह बड़ी चीज है।

हम इसे चुनौती के रूप में ले रहे हैं और निश्चित तौर पर हम उसके खिलाफ अपने खेल में सुधार करना चाहते हैं। हमने अभ्यास के दौरान मेहनत की है और अब मायने यह रखता है कि मैदान पर कौन इसे लागू कर पाएगा।

advt
Back to top button