छत्तीसगढ़

राजिम नगर में बकाया भुगतान के लिए किसानों का अनिश्चितकालीन धरना 27 दिसम्बर से

दीपक वर्मा:

राजिम: कृषि उपज मंडी समिति राजिम में किसानों द्वारा बेचे गए उपज का पिछले छह महीने से नहीं होने से नाराज किसानों ने 27 दिसम्बर 2019 से राजिम मंडी बंद कर परिवार सहित अनिश्चित कालीन धरना करने का निर्णय लिया है।

गौरतलब है कि चंद्रेश राईस मिलर को किसानों ने अपने धान को कृषि उपज मंडी समिति राजिम में खुली बोली के माध्यम से बेचा था जिन्हें दिया गया चेक बाउंस हो जाने से किसानों को 45 लाख रुपये का भुगतान नहीं हो पाया था।

किसानों ने इस संबंध में धरना प्रदर्शन, पदयात्रा एवं पत्र ज्ञापन के माध्यम से शासन-प्रशासन को अवगत कराते आए हैं। मील मालिक द्वारा अब तक केवल साढ़े चौदह लाख रुपये का ही भुगतान किया है जबकि इकतीस लाख रुपये का भुगतान अब भी बकाया है। लेकिन किसानों की सुध न मंडी प्रशासन गंभीरता से लिया है और न ही जिला एवं प्रदेश में बैठे जिम्मेदारों ने लिया है।

इसलिए किसानों ने मंडी में बैठक कर 27 दिसम्बर 2019 से कृषि उपज मंडी में व्यापारी खरीदी बंद कर अनिश्चित कालीन धरना का निर्णय लिया है, जिसकी सूचना अनुविभागीय अधिकारी राजिम, तहसीलदार राजिम , मंडी सचिव राजिम और थाना प्रभारी राजिम को किया गया है।

बैठक में अखिल भारतीय क्रांतिकारी किसान सभा के उपाध्यक्ष मदन लाल साहू, सह सचिव ललित कुमार, राज्य सचिव तेजराम विद्रोही, सदस्य एवन कुमार के साथ पीड़ित किसान लुमश राम, ठाकुर राम, धनाजी, सोमनाथ साहू, दिनेश कुमार, संजय साहू, कोमल राम, समारू राम, बिष्णुराम, बलदाऊ ध्रुव, भारत साहू, बंशीराम, बिसाहू राम, ओमप्रकाश, फलेश्वर यादव, तिलकराम, होरीलाल, कृष्ण कुमार, संतु, जहुरराम, बाल्मिकी साहू, गिरधर साहू, चुम्मन लाल, अनुज कुमार, रामबगस साहू , लालचन्द साहू उपस्थित थे।

Tags
Back to top button