बांग्लादेश को हराकर भारत ने 7वीं बार जीता एशिया कप का ख़िताब

नई दिल्ली: एशिया कप के फाइनल मुकाबले में भारत ने बांग्लादेश को 3 विकेट से हराकर एशिया कप अपने नाम किया। एशिया कप के इतिहास में भारतीय टीम ने सबसे ज्यादा यानी 7 बार इस खिताब को जीता है। इस खिताबी जंग में भारत के कप्तान टॉस जीतकर पहले गेंदबाज़ी करने का फैसला किया। फाइनल मुकाबले में बांग्लादेश की टीम पहले बल्लेबाजी करते हुए अपने ओपनर बल्लेबाज लिटन दास की शतकीय पारी के दम पर 48.3 ओवर में 222 रन पर सिमट गई। अब भारत को सातवीं बार एशिया कप जीतने के लिए 223 रन का लक्ष्य मिला है।

अर्धशतक से चूके रोहित शर्मा

भारत को पहला झटका नजमुल इस्लाम ने दिया, उन्होंने शिखर धवन को सौम्य सरकार के हाथों कैच आउट करा कर अपनी टीम को पहली सफलता दिलाई। कप्तान मशरफे मुर्तजा ने अंबाती रायडू को सिर्फ दो रन पर ही आउट कर दिया। रायडू का कैच मुर्तजा की गेंद पर विकेटकीपर मुश्फिकुर रहीम ने लपका। कप्तान रोहित शर्मा अपने अर्धशतक से चूक गए और रुबेल हुसैन की गेंद पर कैच आउट हुए। रोहित का कैच नजमुल इस्लाम ने लपका। उन्होंने 55 गेंदों का सामना करते हुए 48 रन बनाए।

दिनेश कार्तिक ने धौनी के साथ चौथे विकेट के लिए 54 रन की अहम साझेदारी की। इस साझेदारी को महमूदुल्लाह ने तोड़ दिया। कार्तिक महमूदुल्लाह की गेंद पर LBW आउट हो गए। महेंद्र सिंह धौनी ने 36 रन बनाए और मुस्ताफिजुर रहमान की गेंद पर उनका कैच विकेट के पीछे मुश्फिकुर रहीम ने पकड़ा।

केदार जाधव 19 रन बनाकर रिटायर हर्ट होकर पवेलियन लौट गए। अच्छी बल्लेबाजी कर रहे रवींद्र जडेजा अहम मौके पर 23 रन बनाकर आउट हो गए। रुबेल हुसैन की गेंद पर रहीम ने उनका कैच पकड़ा। जडेजा ने काफी सूझबूझ भरी पारी खेली और सातवें विकेट के लिए भुवी के साथ 45 रन की अहम साझेदारी की। भुवी ने 21 रन की पारी खेली और विकेट के पीछे रहीम के हाथों कैच आउट हुए।

लिटन दास ने खेली 121 रन की पारी

भारत को पहली सफलता का इंतजार 20 ओवर तक करना पड़ा, केदार जाधव ने मेहदी हसन को अंबाति रायुडू के हाथों कैच आउट करवा बांग्लादेश को पहला झटका दिया। भारत को दूसरी सफलता इमरूल कायस के तौर पर मिली। स्पिनर युजवेंद्र चहल ने उन्हें 2 रन पर LBW आउट कर दिया। कायस ने रिव्यू का भी इस्तेमाल किया लेकिन फैसला भारत के हक में ही रहा।

Back to top button