भारत संविधान दिवस : चीफ जस्टिस ने देश का आधार समाज तो ग्रंथ को बताया स्तंभ

रिपाेटर अमन जाटवर बिलासपुर

बिलासपुर :

26 नवंबर को भारत संविधान दिवस के अवसर पर छत्तीसगढ़ हाई कोर्ट अधिवक्ता संघ द्वारा शाम 7:00 बजे हाई कोर्ट ऑडिटोरियम में व्याख्यान का आयोजन किया।

इस अवसर पर मुख्य अतिथि चीफ जस्टिस अजय कुमार त्रिपाठी ने भारतीय सविधान की समग्रता विशालता व सभी के प्रति समानता के अधिकार के लिए विस्तार रूप से प्रकाश डाला है ।

एवं उन्होंने कहां है कि भारत का संविधान विश्व का अदघितीय संविधान है यह देश का आधार समस्त होने के साथ मूल ग्रंथ है सभी को संविधान के अनुसार अपना कार्य करना चाहिए ।

इस अवसर पर जस्टिस प्रशांत कुमार मिश्रा जस्टिस एमएम श्रीवास्तव ने भी अपने व्यक्त किए वरिष्ठ अधिवक्ता एनएल सोनी अन्नपूर्णा तिवारी प्रतीक शर्मा सिदघारथ दुबे ने भी अपने विचार प्रकट किए कार्यक्रम में रजिस्ट्रार जनरल नीलम चंद सांखला समेत हाई कोर्ट के सभी शामिल हुए।

संघ के अध्यक्ष सी केशरवानी ने स्वागत भाषण व आयोजन के उद्देश्य के संबंध में जानकारी दिये। संघ की उपाध्यक्ष किरण जैन महासचिव राहुल मिश्रा कोषाध्यक्ष, पवन श्रीवास्तव कार्य कारिणी सदस्य, सोनिया कुलदीप,

रवि कुमार भगत, अजय कुमार चंद्र, चंद्र प्रकाश लाने, अभिषेक पांडे, राहुल शर्मा, अमित शर्मा अधिवक्ता विवेक राजन तिवारी, सिद्दीकी डॉ टी एन दुबे, बीएन नंदे, रोशन दुबे, रमाकांत पांडे समस्त बड़ी संख्याओं में अधिवक्ता उपस्थित थे।

1
Back to top button