पाकिस्‍तान बोला- भारत ने पार नहीं की LOC, पर उसके तीन सैनिकों की हुई हत्‍या

जम्‍मू-कश्‍मीर के पुंछ में पाकिस्‍तान द्वारा एक मेजर समेत चार जवानों की हत्‍या करने के बाद भारत के पांच कमांडो ने लाइन ऑफ कंट्रोल को पार करने के बाद सोमवार को पाकिस्‍तान के तीन जवानों को मार गिराया. लेकिन भारत के इस दावे को पाकिस्‍तान ने दावों को सिरे से खारिज कर दिया है.

नई दिल्ली: जम्‍मू-कश्‍मीर के पुंछ में पाकिस्‍तान द्वारा एक मेजर समेत चार जवानों की हत्‍या करने के बाद भारत के पांच कमांडो ने लाइन ऑफ कंट्रोल को पार करने के बाद सोमवार को पाकिस्‍तान के तीन सैनिकों को मार गिराया. लेकिन भारत के इस दावे को पाकिस्‍तान ने दावों को सिरे से खारिज कर दिया है.

पाकिस्तानी विदेश विभाग ने एक बयान में कहा कि भारतीय कार्रवाई का ‘पाकिस्तानी पक्ष ने माकूल जवाब दिया और उनकी बंदूकों को खामोश कर दिया.’ उसने इस बात को सिरे से खारिज कर दिया कि भारतीय सेना के कमांडो जम्मू-कश्मीर के पुंछ सेक्टर में नियंत्रण रेखा पार कर अंदर गए और एक पाकिस्तानी चौकी को तबाह कर दिया.

विदेश विभाग ने कहा कि भारत की ओर से नियंत्रण रेखा पार कर कार्रवाई किए जाने के फर्जी दावे उनकी कोरी कल्पना हैं और यह नियंत्रण रेखा पर शांति एवं सौहार्द के लिए प्रतिकूल असर डालने वाले हैं.

बयान में कहा गया है कि महानिदेशक (दक्षिण एशिया एवं दक्षेस) मोहम्मद फैसल ने भारत के कार्यवाहक उप उच्चायुक्त को सम्मन किया और रखचिकरी सेक्टर में भारतीय सुरक्षा बलों की ओर से किए गए ‘संघर्ष विराम के कारण उल्लंघन की निंदा की है.’

उसने कहा कि गोलीबारी को ‘सरकार से इतर तत्वों द्वारा आईईडी प्लांट करके कवर प्रदान किया गया’ और इससे तीन सैनिकों की मौत हो गई.

फैसल ने ‘भारत से कहा कि 2003 के संघर्ष विराम का उल्लंघन करे, इस घटना और दूसरी घटनाओं की जांच करे और अपने सुरक्षा बलों को संघर्ष विराम समझौते का सम्मान करने का निर्देश दे.’

सूत्र ने बताया था कि इस ऑपरेशन से पाकिस्तान को सख्त संदेश देना था कि अगर पाकिस्तानी सैनिकों ने भारतीय सैनिकों पर हमला किया तो जवाबी कार्रवाई के लिए उन्हें तैयार रहना होगा.

शनिवार को पाकिस्तानी सेना ने भारतीय सैनिकों को निशाना बनाने के लिए नियंत्रण रेखा में करीब 400 मीटर की दूरी तक घुसपैठ कर लिया था. हमलावर पाकिस्तान बॉर्डर एक्शन टीम का हिस्सा थे. इन समूहों में पाकिस्तानी सेना के विशेष बल और आतंकवादी शामिल थे.

advt
Back to top button