खेल

भारत ने किया 2032 ओलंपिक खेलों में मेजबानी करने का दावा

नई दिल्ली: भारतीय ओलंपिक महासंघ (आईओए) के अध्यक्ष नरिंदर बत्रा ने गुरुवार को कहा कि भारत अंतर्राष्ट्रीय ओलम्पिक समिति (आईओसी) के सामने 2032 ओलम्पिक खेलों की मेजबानी की सिफारिश करेगा। बत्रा ने यहां राजधानी दिल्ली में आयोजित एक संवाददाता सम्मेलन में आईओसी के अध्यक्ष थॉमस बाक की उपस्थिति में इसकी घोषणा की। नरिंदर ने कहा, ‘भारत ने युवा ओलम्पिक खेलों के अलावा, 2030 एशियाई खेलों और 2032 ओलम्पिक खेलों के लिए भी अपनी मेजबानी पेश करने का फैसला लिया है।

मैं यह घोषणा करना चाहता हूं कि हम 2032 ओलम्पिक खेलों के लिए आईओसी के सामने मेजबानी पेश करेंगे।’इस संबंध में बाक ने कहा, ‘भारत के पास इस संबंध में काफी क्षमता है। यह सिर्फ खेल में ही नहीं, बल्कि इसके एथलीट भी शानदार है। इसके अलावा, भारत आर्थिक रूप से भी मजबूत दिख रहा है। आशा है कि एक दिन भारत ओलम्पिक खेलों की मेजबानी करेगा।’

बाक ने यह भी कहा कि ओलम्पिक आंदोलन में आईओसी पूरी तरह भारत के साथ है और वह हर उस देश को सक्षम बनाने में मदद करेगा, जो बहु-खेल आयोजनों की मेजबानी की चाह रखते हैं। बाक के मुताबिक भारत के पास क्षमता और संसाधन दोनों हैं, ऐसे में वह आने वाले समय में वैश्विक खेल मेजबान के तौर पर सामने आएगा।

इसके अलावा नरिंदर बत्रा ने यह भी कहा कि 2022 राष्ट्रमंडल खेलों के बहिष्कार के सम्बंध सरकार से अपील करने सम्बंधी भारतीय राष्ट्रीय राइफल संघ (एनआरएआई) के अध्यक्ष रनिंदर सिंह के बयान से वह इत्तेफाक नहीं रखते। बत्रा ने कहा कि रनिंदर की ओर से उठाया जा रहा यह कदम काफी बड़ा है और ऐसा होना सम्भव नहीं है। गौरतलब है कि रनिंदर सिंह ने मंगलवार को कहा था कि वह सरकार से 2022 में बर्मिघम में होने वाले 22वें कॉमनवेल्थ गेम्स का बहिष्कार करने की अपील करेंगे। मालूम हो कि बर्मिघम की आयोजन समिति ने निशानेबाजी को 22वें राष्ट्रमंडल खेलों को हटाने का फैसला किया है।

Tags
advt

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.