अंतर्राष्ट्रीय

उकसाने के लिए सर्जिकल स्ट्राइक का झूठा दावा कर रहा भारत: पाक

congress cg advertisement congress cg advertisement

पाकिस्तान ने आरोप लगाया है कि भारत उसे संघर्ष के लिए उकसाने की खातिर नियंत्रण रेखा (एलओसी) के पार सर्जिकल स्ट्राइक किए जाने का ‘झूठा दावा’ कर रहा है। संयुक्त राष्ट्र महासभा में एक चर्चा के दौरान पाक की स्थायी प्रतिनिधि मलीहा लोधी ने यह बात कही।

उन्होंने गीदड़भभकी देते हुए कहा, ‘भारत की ओर से किसी भी प्रकार की आक्रामकता का समुचित और प्रभावी जवाब दिया जाएगा।’

संरा के काम पर महासचिव की एक रिपोर्ट पर बहस के दौरान लोधी ने कहा, सर्जिकल स्ट्राइक का दावा और भारत की ओर से एलओसी के पार इस तरह के कार्रवाई फिर करने की धमकी दिया जाना संयुक्त राष्ट्र चार्टर की निषेधाज्ञा का स्पष्ट उल्लंघन है।

एक बार फिर कश्मीर का मसला संरा के मंच पर उठाते हुए लोधी ने भारत पर कश्मीर घाटी में आतंकवाद फैलाने का आरोप लगाया।

उन्होंने कहा कि कश्मीर की आवाम के खिलाफ अपराधों को दबाने और दुनिया का ध्यान भटकाने के लिए भारत कश्मीर में नियंत्रण रेखा पर रोजाना संघर्षविराम का उल्लंघन कर रहा है।

लोधी ने कहा, ‘संयुक्त राष्ट्र में अंतरराष्ट्रीय समुदाय के प्रतिनिधियों को भारत को कश्मीर में आतंकवाद से लड़ाई के तुच्छ कवर के तहत मानवता के खिलाफ अपराध करने की अनुमति नहीं देनी चाहिए।’

उन्होंने आरोप लगाया कि कश्मीर में मौजूद आतंकवाद भारत द्वारा फैलाई गई दहशत है। वास्तव में राज्य प्रायोजित आतंकवाद को गैर-अलगाववादी आंदोलन द्वारा आतंक का सबसे बड़ा रूप माना जाता है।

भारत ने पाक के इस आरोप पर कड़ी प्रतिक्रिया देते हुए इसे ‘जंगल से आने वाली अकेली आवाज’ बताया। संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थायी दूतावास में प्रथम सचिव एनम गंभीर ने प्रति उत्तर के अधिकार के तहत कहा, ‘हमें जंगल से आने वाली एक अकेली आवाज सुनाई दे रही है, जो अतीत की घिसी पिटी कहानी सुना रही है।’

उन्होंने कहा, ‘पाकिस्तान एक ऐसे मुद्दे पर अटका हुआ है, जिस पर संयुक्त राष्ट्र में दशकों से विचार नहीं किया गया है। यह एक ऐसा मुद्दा है, जिसे पाक का प्रतिनिधिमंडल प्रक्रियात्मक मोर्चा बंदी से जीवित रखे हुए है, जबकि दुनिया बहुत आगे बढ़ चुकी है।

Summary
Review Date
Reviewed Item
संघर्ष
Author Rating
51star1star1star1star1star
Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.