भारत दुनिया का दूसरा सबसे सस्ता देश, सस्ते शहरों में कोलकाता का नाम

देशों की रैंकिंग चार प्रमुख मानकों पर तय की गई है, नमबियो की ओर से ऑनलाइन जुटाए गए आंकड़ों के आधार पर यह सर्वे पूरा किया गया है

भारत दुनिया का दूसरा सबसे सस्ता देश, सस्ते शहरों में कोलकाता का नाम

दुनिया में रहने के लिहाज से भारत दुनिया का दूसरा सबसे सस्ता देश है. हाल में 112 देशों के बीच किए गए एक सर्वेक्षण में यह बात सामने आई है. गो बैंकिंग रेट्स के इस सर्वे में पहले पायदान पर दक्षिण अफ्रीका का नाम है.

देशों की रैंकिंग चार प्रमुख मानकों पर तय की गई है. नमबियो की ओर से ऑनलाइन जुटाए गए आंकड़ों के आधार पर यह सर्वे पूरा किया गया है. सर्वेक्षण में लोकल परचेजिंग इंडेक्स, किराया इंडेक्स, ग्रॉसरी इंडेक्स और कंज्यूमर प्राइस इंडेक्स को आधार बनाया गया है.
[responsivevoice_button voice=”Hindi Female” buttontext=”अगर आप पढ़ना नहीं
चाहते तो क्लिक करे और सुने”]
दुनिया के 50 सबसे सस्ते देशों में किराए के मामले में भारत दूसरे स्थान पर है. उससे ऊपर सिर्फ पड़ोसी देश नेपाल का नाम आता है. इस हिसाब से अन्य देशों के मुकाबले रहने के लिए भारत सबसे सस्ता देश है. कंज्यूमर और ग्रॉसरी की कीमतों के हिसाब से भी भारत सबसे सस्ता देश है. जहां महानगर कोलकाता में 285 डॉलर महीने की खर्च में एक अकेला आदमी अपना गुजर-बसर कर सकता है.

सर्वेक्षण के हिसाब से 125 करोड़ की आबादी वाला भारत दुनिया के 50 सबसे सस्ते और ज्यादा आबादी वाले देशों में से एक है. यहां प्रमुख उद्योग कपड़ा, केमिकल और फूड प्रोसेसिंग है. इसके अलावा भारत के कई शहरों में लोकल परचेजिंग भी अधिक है.

सर्वेक्षण के मुताबिक, भारतीयों की लोकल परचेजिंग 20.9% सस्ती, किराया 95.2% सस्ता, ग्रॉसरी की कीमत 74.4% सस्ती और लोकल सामान और सेवाएं 74.9% सस्ती हैं. भारत के पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान का इस सूची में 14वां स्थान है. इसके अलावा कोलंबिया का 13वां, नेपाल का 28वां और बांग्लादेश का 40वां स्थान है.

इन सभी देशों की इन चारों स्टैंडर्ड पर तुलना अमेरिका के न्यूयॉर्क शहर से की गई है.

1
Back to top button