राष्ट्रीय

पुलवामा हमले को लेकर भारत सख्त, आतंकवादियों के बारे में पाकिस्तान से मांगेगा जानकारी

राष्ट्रीय जांच एजेंसी की तरफ से तैयार किए गए एक औपचारिक न्यायिक अनुरोध में सात आतंकवादियों की जानकारी मांगी गई हैं.

पिछले साल पुलवामा में केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के काफिले पर हुए हमले को लेकर भारत ने फैसला किया है कि वो औपचारिक रूप से पाकिस्तान से हमले पीछे छिपे आतंकवादियों की डिटेल शेयर करने को कहेगा. इस आत्मघाती बम हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान मारे गए थे और इसके बाद दोनों देश युद्ध के कगार पर पहुंच गए थे.

राष्ट्रीय जांच एजेंसी की तरफ से तैयार किए गए एक औपचारिक न्यायिक अनुरोध में सात आतंकवादियों की जानकारी मांगी गई हैं. इनमें से चार मौलाना मसूद अजहर, उसका भाई अब्दुल रऊफ असगर और इब्राहिम अतहर और उसका चचेरा भाई अम्मार अल्वी पाकिस्तान में हैं. वहीं हमले को अंजाम देने के लिए भारत आए तीन पाकिस्तानी, अतहर का बेटा उमर फारूक और कामरान पुलवामा हमले के बाद सुरक्षाबलों के साथ मुठभेड़ में मारे गए थे. वहीं माना जाता है कि तीसरा आतंकवादी इस्माइल कश्मीर में छिपा है.

गृह मंत्रालय की तरफ से दस्तावेज को अंतिम रूप देने के बाद कोर्ट से पाकिस्तान को न्यायिक अनुरोध भेजने की अनुमति मांगी जाएगी. एक वरिष्ठ सरकारी अधिकारी ने कहा कि पुलवामा हमले में पाकिस्तान को भेजा गया ये पहला ऐसा न्यायिक अनुरोध है, जिसमें उसका सहयोग मांगा जा रहा है.

अधिकारी ने कहा कि अजहर, असगर, अतहर और अल्वी के ठिकाने के अलावा भारत उसके और दूसरे लोगों के बीच व्हाट्सएप चैट, वॉयस नोट, पाकिस्तान से किए गए वॉयस ओवर इंटरनेट प्रोटोकॉल (वीओआईपी) कॉल के साथ उमर फारूक के फोन से मिले फोटो और वीडियो में दिख रहे लोगों की जानकारी मांगेगा. उमर फारूक के फोन से मिले फोटो और वीडियो में पुलवामा हमले की तैयारी को करते दिखाया गया है.

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button