INDvsAUS: T20 में ‘कंगारुओं’ का सफाया करने उतरेगी ‘विराट सेना’

रांची: वनडे में ऑस्ट्रेलिया पर शानदार जीत दर्ज करने के बाद आत्मविश्वास से ओतप्रोत भारतीय क्रिकेट टीम शनिवार से यहां शुरू हो रही टी-20 श्रृंखला में भी जीत की उसी लय को बरकरार रखने के इरादे से उतरेगी. विराट कोहली की टीम ने इस सत्र में अपना शानदार प्रदर्शन बरकरार रखते हुए ऑस्ट्रेलिया को वनडे श्रृंखला में 4-1 से हराकर नंबर वन के सिंहासन पर कब्जा कर लिया था. टी20 रैंकिंग में पांचवें स्थान पर काबिज भारत का लक्ष्य अब जेएससीए अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम पर शुरू हो रही तीन मैचों की श्रृंखला में क्लीन स्वीप करके अपनी रैंकिंग बेहतर करना होगा.

दूसरी ओर ऑस्ट्रेलियाई टीम का लक्ष्य भारत के हाथों 2016 टी-20 विश्व कप में मिली हार का बदला चुकता करना होगा. भारत ने ऑस्ट्रेलिया को सात विकेट से हराकर सेमीफाइनल में जगह बनाई थी. उस मैच में विराट कोहली ने 51 गेंद में नाबाद 82 रन बनाकर ऑस्ट्रेलिया का बोरिया बिस्तर टूर्नामेंट से बांध दिया था.

भारतीय टीम में 38 बरस के अनुभवी तेज गेंदबाज आशीष नेहरा की वापसी हुई है, जिन्होंने आखिरी अंतरराष्ट्रीय टी20 मैच फरवरी में खेला था. वेस्टइंडीज और श्रीलंका के खिलाफ उन्हें मौका नहीं दिया गया था. उनके साथ ही विकेटकीपर बल्लेबाज दिनेश कार्तिक को रिषभ पंत पर तरजीह दी गई है. श्रीलंका के खिलाफ टी-20 खेलने वाली टीम में से तेज गेंदबाज शारदुल ठाकुर और बल्लेबाज अजिंक्य रहाणे को बाहर किया गया है.

रहाणे को नहीं चुना जाना हालांकि हैरत का सबब रहा, जिन्होंने वनडे श्रृंखला में चार अर्धशतक जमाये थे. हालांकि उन्होंने आखिरी टी-20 अंतरराष्ट्रीय मैच पिछले साल अगस्त में खेला था. नियमित सलामी बल्लेबाज शिखर धवन ने टीम में वापसी की है, जो पत्नी की सर्जरी के कारण वनडे श्रृंखला से बाहर रहे थे. उनसे और रोहित शर्मा से भारत को उम्दा शुरूआत की उम्मीद होगी चूंकि रोहित शानदार फार्म में है, जिन्होने वनडे श्रृंखला में पांच मैचों में एक शतक और दो अर्धशतक समेत करीब 60 की औसत से सर्वाधिक 296 रन बनाये.

वनडे श्रृंखला में प्लेयर आफ द टूर्नामेंट रहे हरफनमौला हार्दिक पंड्या भारत के लिये एक्स फैक्टर साबित हो सकते हैं. पंड्या ने पांच मैचों में दो अर्धशतक समेत 222 रन बनाये और छह विकेट भी लिये थे. चेन्नई में पहले वनडे में उन्होंने महेंद्र सिंह धोनी के साथ मिलकर भारत को शुरूआती संकट से निकालकर जीत तक पहुंचाया.

इंदौर में पंड्या को बल्लेबाजी क्रम में चौथे स्थान पर भेजा गया और कप्तान के भरोसे पर खरे उतरते हुए उन्होंने 78 रन बनाये. लोकेश राहुल , केदार जाधव और मनीष पांडे पर मध्यक्रम को मजबूती देने की जिम्मेदारी होगी. धोनी से अपने शहर में खास पारी की उम्मीद दर्शकों को रहेगी.गेंदबाजी में आर अश्विन और रविंद्र जडेजा को वनडे के बाद टी20 टीम से भी बाहर रखा गया है चूंकि कलाई के स्पिनरों कुलदीप यादव ने सात और युजवेंद्र चहल ने छह रन प्रति ओवर से भी कम की औसत से छह विकेट लेकर उनकी कमी महसूस नहीं होने दी. उनका साथ देने के लिये अक्षर पटेल भी टीम में हैं.

तेज गेंदबाजी में नेहरा के साथ भुवनेश्वर कुमार और जसप्रीत बुमराह होंगे. भुवनेश्वर ने कोलकाता वनडे में नौ रन देकर तीन विकेट लिये थे, वहीं डैथ ओवरों में बुमराह ने उम्दा गेंदबाजी की है. दूसरी ओर ऑस्ट्रेलियाई कप्तान स्टीव स्मिथ ने स्वीकार किया कि प्रदर्शन में निरंतरता का अभाव उनकी टीम के लिये बड़ी समस्या बन गया है. उन्होंने कहा था,‘‘ किसी एक पर हार का ठीकरा फोड़ना गलत होगा. हम लगातार अच्छा प्रदर्शन करने में नाकाम रहे हैं. शीर्ष क्रम से बेहतर प्रदर्शन की उम्मीद है.’’

यह आलम तब है जब ऑस्ट्रेलिया के अधिकांश क्रिकेटर आईपीएल खेलते हैं. डेविड वार्नर आठ साल से आईपीएल खेल रहे हैं और 4000 रन से अधिक बना चुके हैं. वहीं नाथन कूल्टर नाइल दो बार की चैम्पियन कोलकाता नाइट राइडर्स टीम का अभिन्न हिस्सा हैं. भारत के खिलाफ हालांकि पिछले पांच मैचों में वार्नर अपने खतरनाक तेवर नहीं दिखा सके. वहीं जेम्स फाकनेर और कूल्टर नाइल को भी दो दो विकेट ही मिले हैं. आईपीएल के मिलियन डालर बेबी रहे ग्लेन मैक्सवेल का औसत 27 का रहा है. ऑस्ट्रेलियाई टीम का लक्ष्य इस श्रृंखला के जरिये अपनी प्रतिष्ठा बचाने का होगा.

टीमें इस प्रकार हैं: भारत : विराट कोहली ( कप्तान) , रोहित शर्मा , शिखर धवन, केएल राहुल, मनीष पांडे , केदार जाधव, दिनेश कार्तिक, एम एस धोनी, हार्दिक पंड्या, कुलदीप यादव, युजवेंद्र चहल, जसप्रीत बुमराह, भुवनेश्वर कुमार, आशीष नेहरा, अक्षर पटेल.

ऑस्ट्रेलिया: स्टीव स्मिथ ( कप्तान) , डेविड वार्नर, जासन बेहरेनडोर्फ, डैन क्रिस्टियन, नाथन कूल्टर नाइल, आरोन फिंच, ट्रेविस हेड, मोइसेस हेनरिक्स, ग्लेन मैक्सवेल, टिम पेन, केन रिचर्डसन, एडम जम्पा.

1
Back to top button