Uncategorized

WWC सेमीफाइनल: 6 बार की चैंपियन टीम से भिड़ेगा भारत, आज है मुकाबला

आईसीसी महिला वर्ल्ड कप का दूसरा सेमीफाइनल मैच आज इंग्लैड में खेला जाना है। जहां भारत का मुकाबला 6 बार की छह बार की विनर रह चुकी ऑस्ट्रेलियन टीम से होगा। यह मुकाबला यहां के काउंटी ग्राउंड में खेला जाएगा। मैच को जीतने वाली टीम फाइनल मुकाबले में जीत के लिए इंग्लैंड की टीम से भिड़ेगी।

सलामी बल्लेबाज स्मृति मंधाना ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ भारत की पहली ट्रम्प कार्ड हैं। अगर टीम को लॉर्ड्स में फाइनल खेलना है तो इसके लिए उन्हें पिछले कुछ मैचों की अपनी फॉर्म से सबक सीखते हुए विकेट पर पैर जमाने होंगे। दूसरी तरफ बेहतरीन फॉर्म में चल रही टीम की कैप्टन मिताली राज पर भी नजरे होगीं। मिताली ने पिछले मैच में न्यूजीलैंड के खिलाफ 109 रनों की शानदार पारी खेली थी। वहीं अब तक इस टूर्नामेंट में वह 3 अर्धशतक भी जड़ चुकी हैं।

वहीं जीत के लिए भारत के पांच टॉप बल्लेबाजों को 40 ओवर तक टिकना होगा। मंधाना, पूनम राउत, मिताली राज, हरमनप्रीत और दीप्ति शर्मा को विकेट बचाने के साथ ही रन गति को भी बनाए रखना होगा। पिछले मैच में वेदा कृष्णामूर्ति ने अंत में अच्छी आक्रामक बल्लेबाजी करके भारत की सेमीफाइनल में पहुंचाने की राह तैयार की थी। वहीं मिताली ने अपने करियर के आखिरी एक हजार रन पिछले पांच हजार रनों की तुलना में सबसे तेज बनाए हैं।

भारतीय गेंदबाजी आक्रमण की धार एकता बिष्ट हैं। उनकी जगह शामिल राजेश्वरी गायकवाड़ भी पिछले मैच में कारगर रही थीं। कोच तुषार अरोठे रनों पर अंकुश लगाने के लिए लेग स्पिनर पूनम यादव के साथ बाएं हाथ की इन दोनों स्पिनरों को एक साथ उतार सकते हैं। ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाजी क्रम में बाएं हाथ की तीन खिलाड़ियों को ध्यान में रखते हुए टीम में दीप्ति शर्मा और हरमनप्रीत कौर के रूप में दो ऑफ स्पिनर हैं।

भारत के लिए लकी साबित हुआ काउंटी ग्राउंड

काउंटी ग्राउंड, भारत के लिए इस विश्व कप में अभी तक अच्छा साबित हुआ है। यहां भारत ने शुरुआती मैचों के बाद न्यूजीलैंड को 186 रन से हराकर किवी टीम के बढ़ते कदमों पर लगाम लगा दी थी।

ऑस्ट्रेलिया की ओर से एलिस पैरी सात मैचों में 366 रन बनाकर दूसरी सबसे अधिक रन बनाने वाली खिलाड़ी हैं। उपकप्तान एलेक्स ब्लैकवेल भारत के खिलाफ अब तक दो शतक और छह अर्धशतक लगाकर बढ़िया प्रदर्शन कर चुकी हैं। कप्तान मैग लैनिंग कंधे की चोट के बाद लौटी हैं। ये तीनों मिलकर भारत के लिए बड़ी चुनौती पेश कर सकती हैं।

Tags
Back to top button