CBI ने कहा, सेना के ताबूत और बॉडी बैग गोदाम में बंद रखने में उसकी कोई भूमिका नहीं

कॉफिनगेट’ नाम से जाने जा रहे मामले की जांच कर रही सीबीआई ने गुरुवार को कहा कि कानपुर

नई दिल्ली:

कॉफिनगेट’ नाम से जाने जा रहे मामले की जांच कर रही सीबीआई ने गुरुवार को कहा कि कानपुर में सेना के एक गोदाम में पड़े बॉडी बैग तथा ताबूत सौंपने की मांग से जुड़ी सेना की याचिका के संबंध में उसकी कोई भूमिका नहीं है.

एक अधिकारी ने यह जानकारी दी.

इससे पहले ऐसी खबरें आई थीं कि सेना ने गोदाम में पड़े 900 से अधिक बॉडी बैग और 150 ताबूत उसे जल्द सौंपने की मांग की है.

दोनों चीजें 1999 में खरीदी गई थीं और चार लाख डॉलर की घूस के आरोपों और उसके बाद हुई सीबीआई जांच के मद्देनजर ये बॉडी बैग और ताबूत गोदाम में पड़े हुए हैं.

अधिकारी के अनुसार सीबीआई की अदालत में सुनवाई के दौरान सबूत के तौर पर इस्तेमाल के लिए केवल एक ताबूत और एक बॉडी बैग जब्त किए गए हैं.

पिछले सप्ताह सात जवानों के शव प्लास्टिक के बोरियों में लपेटे जाने और गत्तों में रखे जाने की तस्वीर सामने आई थीं जिससे लोगों में आक्रोश पैदा हो गया था.

बीते शुक्रवार को तवांग में एमआई-17 हेलीकॉप्टर के दुर्घटनाग्रस्त होने से इन जवानों की मौत हो गई थी.

Back to top button