अंतर्राष्ट्रीय

भारतीय-अमेरिकी डॉक्टर को 4.9 करोड़ डॉलर के धोखाधड़ी मामले में सजा

अमेरिका में भारतीय मूल के एक डॉक्टर को 4.9 करोड़ डॉलर (करीब 3.15 अरब रुपये) की धोखाधड़ी के मामले 10 साल की सजा सुनाई है। मैरीलैंड और वर्जीनिया में लाइसेंस प्राप्त नेत्र सर्जन श्रीधर पोताराजू को अमेरिका में भारतीय शास्त्रीय नृत्य को बढ़ावा देने के लिए भी जाना जाता है।

भारतीय-अमेरिकी डॉक्टर ने स्वीकार किया कि उसने पूंजी निवेश के रूप में 4.9 करोड़ डॉलर से ज्यादा की रकम हासिल करने के लिए ‘विटल स्प्रिंग’ कंपनी के शेयरधारकों को गलत और भ्रामक जानकारी उपलब्ध कराई थी। न्याय विभाग ने आरोप लगाया कि 51 वर्षीय पोताराजू ने कई मौकों पर ‘विटल स्प्रिंग’ को वित्तीय रूप से एक सफल कंपनी बताया था और कहा था कि जल्द ही कंपनी की बिक्री होने वाली है, जिससे इसके शेयरधारकों को लाभ मिलेगा। भारतीय-अमेरिकी डॉक्टर ने अपने ऊपर लगे आरोपों को स्वीकार किया है। प्रतिष्ठित केनेडी सेंटर में भारतीय शास्त्रीय संगीत और नृत्य के वार्षिक आयोजन को लेकर पोताराजू भारतीय-अमेरिकी समुदाय के बीच काफी लोकप्रिय हैं।

राष्ट्रपति चुनाव के लिए धन भी जुटाया
बराक ओबामा और हिलेरी क्लिंटन के चुनावों के दौरान पोताराजू डेमोक्रेटिक पार्टी के लिए धन जुटाने वाले प्रमुख व्यक्ति रहे हैं। कार्यवाहक उप सहायक अटॉर्नी जनरल गोल्डबर्ग ने कहा, ‘पोताराजू की दोषसिद्धी और इस मामले की सुनवाई के साथ ही उनकी धोखाधड़ी का पता चला है और उनके इस कृत्य के लिए उनको 119 माह कैद की सजा सुनाई गई है।’ फिलाडेल्फिया में 2016 डेमोक्रेटिक कन्वेंशन में डॉ पोताराजू को महत्वपूर्ण समिति के लिए नामित किया गया था।

Back to top button