अंतर्राष्ट्रीयराष्ट्रीय

भारतीय मूल के अमेरिकी डॉक्टर विवेक मूर्ति को बनाया जा सकता है सह अध्यक्ष

डॉ. विवेक मूर्ति को पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा ने अमेरिका का सर्जन जनरल नियुक्त किया था

वाशिंगटन: भारतीय मूल के डॉक्टर विवेक मूर्ति को अमेरिका की अगली सरकार में स्वास्थ्य विभाग का महत्वपूर्ण पद मिल सकता है। डेमोक्रेटिक पार्टी के नेता जो बाइडन अमेरिका के अगले राष्ट्रपति होंगे। अमेरिकी मीडिया के अनुमानों के मुताबिक जो बाइडन ने डोनाल्ड ट्रंप को हरा दिया है।

जीत के उल्लास के बीच जो बाइडन ने बतौर राष्ट्रपति कमान संभालने के लिए तैयारी शुरू कर दी है और विवेक मूर्ति को स्वास्थ्य विभाग में महत्वपूर्ण पद संभालने के लिए इशारा कर दिया गया है। डॉ. विवेक मूर्ति को पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा ने अमेरिका का सर्जन जनरल नियुक्त किया था।

नवनिर्वाचित राष्ट्रपति राष्ट्रपति चुनाव प्रचार के दौरान मूर्ति जन स्वास्थ्य और कोरोना के मुद्दों पर बाइडन के शीर्ष सलाहकारों में से एक सलाहकार बनकर उभरे थे। कई लोगों का मानना है कि उन्हें बाइडन प्रशासन में स्वास्थ्य मंत्री बनाया जा सकता है। बाइडन ने शनिवार रात कहा, मैं बाइडन-हैरिस कोविड योजना में मदद और 20 जनवरी 2021 से इसे अमल में लाने के लिए अग्रणी वैज्ञानिकों और विशेषज्ञों के समूह की घोषणा करूंगा।

हालांकि, उन्होंने यह नहीं बताया कि इस कार्यबल का नेतृत्व कौन करेगा। अमेरिकी अखबार ‘वाशिंगटन पोस्ट’ की रिपोर्ट के मुताबिक, पूर्व सर्जन जनरल डॉक्टर मूर्ति और पूर्व खाद्य व औषधि प्रशासन आयुक्त डेविड केसलर को कार्यबल का सह अध्यक्ष नियुक्त किया जा सकता है। कार्यबल कुछ दिन में बैठकें शुरू कर सकता है।

ओबामा ने मूर्ति को बनाया था सर्जन जनरल मूल रूप से कर्नाटक से संबंध रखने वाले मूर्ति (43) को 2014 में तत्कालीन राष्ट्रपति बराक ओबामा ने अमेरिका का 19वां सर्जन जनरल नियुक्त किया था। ब्रिटेन में जन्मे मूर्ति 37 साल की उम्र में यह जिम्मेदारी संभालने वाले सबसे युवा व्यक्ति थे। बाद में ट्रंप प्रशासन के दौरान उन्हें उस पद से हटा दिया गया था।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button