इंडियन आॅयल छत्तीसगढ़ में पेट्रोलियम पदार्थों की आपूर्ति को और सुगम बनायेगा : सुबोध डाकवाले

इंडियन आॅयल जल्द ही छत्तीसगढ़ में दो एयरपोर्ट रीफ्यूलिंग स्टेशन स्थापित करेगा

रायपुर: प्रधानमंत्री उज्जवला योजना के अंतर्गत इंडियन आॅयल काॅरपोरेशन लिमिटेड द्वारा छत्तीसगढ़ राज्य में 10.19 लाख गैस कनेक्शन वितरित किये जा चुके हैं. इन गैस कनेक्शन हितग्राहियों को गैस सिलिंडरों की सुगम आपूर्ति सुनिश्चित करने इंडियन आॅयल ने छत्तीसगढ़ सरकार के साथ मिलकर राज्य के दूरस्थ इलाकों में 50 गैस ऐजेंसियां स्थापित की हैं. इन गैस ऐजेंसियों का संचालन छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा नामित आदिम जाति सहकारी सेवा समितियों द्वारा किया जा रहा है. राज्य के शेष बचे दूरस्थ इलाकों तक पहुंच बनाने 48 और गैस ऐजेंसियों की नियुक्ति आने वाले समय में की जायेगी.

इंडियन आॅयल जल्द ही छत्तीसगढ़ में दो एयरपोर्ट रीफ्यूलिंग स्टेशन स्थापित करेगा. इनमें से एक जगदलपुर में आरंभ होने जा रहे एयरपोर्ट पर, जबकि दूसरा रायपुर के मौजूदा एयरपोर्ट पर स्थापित किया जायेगा. इंडियन आॅयल ने हाल ही में राज्य के रायपुर व कोरबा में दो अत्याधुनिक आॅयल टर्मिनलों की स्थापना की है. इन दोनों टर्मिनलों को पाइपलाइन के जरिये आपूर्ति प्राप्त होगी ताकि सड़क अथवा रेल मार्ग में आने वाले व्यवधानों या प्राकृतिक आपदाओं की स्थिति में भी छत्तीसगढ में निर्बाधित आपूर्ति को बनाया रखा जा सके. इन टर्मिनलों की स्थापना से 79019 किलोलीटर पेट्रोल, 1,44,278 किलोलीटर डीजल, 24015 किलोलीटर केरोसीन तथा 15008 किलोलीटर अन्य उत्पादों की आपूर्ति छत्तीसगढ़ में संभव हो सकेगी.

उक्त आशय की जानकारी आज आयोजित एक पत्रकार वार्ता में सुबोध डाकवाले, कार्यकारी निदेशक, काॅर्पोरेट संचार व ब्रांडिंग, इंडियन आॅयल काॅरपोरेशन, मार्केटिंग डिवीजन ने दी. इस अवसर पर संतोष कुमार, चीफ डिवीजनल रिटेल सेल्स मैनेजर, रायपुर तथा तेल उद्योग के राज्य स्तरीय समन्वयक भी मौजूद थे.

डाकवाले ने कहा कि प्रधानमंत्री उज्जवला योजना को छत्तीसगढ़ राज्य में प्राथमिकता से लिया जा रहा है. इस योजना को तेल एवं प्राकृतिक गैस मंत्री द्वारा 13 अगस्त 2016 में छत्तीसगढ़ में आरंभ किया गया था. इस अनूठी योजना में छत्तीसगढ़ सरकार ने पहल करते हुए हितग्राहियों को गैस स्टोव तथा पहली बार मुफ्त रीफिलिंग का योगदान अपनी ओर से देना स्वीकार किया था. इसमें हितग्राही का अंशदान 200 रूपये था. यह योजना पहले ही दिन से सफल रही.

छत्तीसगढ़ में कुल 31.9 लाख हितग्राहियों को उज्जवला योजना के तहत गैस कनेक्शन दिया जाना प्रस्तावित है. इसमें से सभी तेल कंपनियों ने मिलकर अब तक 19.47 लाख कनेक्शन मुहैया करा दिये हैं, जिसमें से 10.19 लाख कनेक्शन इंडियन आॅयल द्वारा दिये गये हैं. विगत वर्ष के 31.6 प्रतिशत की तुलना में इस वर्ष एलपीजी की पहुंच 65.61 प्रतिशत हो गई है. उन्होंने आगे बताया कि राज्य सरकार के सहयोग से छत्तीसगढ़ में 50 दुर्गम क्षेत्रीय वितरक – आदिम जाति सहकारी सेवा समिति – के चलते एलपीजी की पहुंच राज्य के दूरस्थ इलाकों में एलपीजी की आपूर्ति को सुगम बनाया गया है. आने वाले समय में 48 और दुर्गम क्षेत्रीय वितरकों की स्थापना की जाकर राज्य के शेष बचे दूरस्थ इलाकों में गैस की आपूर्ति को सुनिश्चित किया जायेगा. इस प्रकार राज्य में कुल दुर्गम क्षेत्रीय की संख्या 98 हो जायेगी.

राज्य में एलपीजी की मांग को पूरा करने कोरबा में एक नया बाॅटलिंग प्लांट 120.72 करोड़ रूपये की लागत से किया जाना है. इस प्लांट के आगामी 3 वर्षों में बनकर तैयार हो जाने की संभावना हे. कुल 30 एकड़ भूमि पर निर्मित हो रहे इस बाॅटलिंग प्लांट की कुल क्षमता 60 टीएमटीपीए होगी जिससे प्रतिदिन 30,000 एलपीजी सिलिंडरों को भरा जा सकेगा. इस प्लांट के आरंभ होने से छत्तीसगढ़ राज्य में गैस की आपूर्ति सुचारू हो जायेगी.

Back to top button