इंडियन ऑयल को बेचने की तैयारी, इन 5 बैंकों की होगी हिस्सेदारी

इंडियन ऑयल को बेचने की तैयारी, इन 5 बैंकों की होगी हिस्सेदारी.

केन्द्र सरकार ने अपनी सबसे बड़ी तेल कंपनी इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन के शेयर्स को बेचने के लिए 5 बैंकों को हिस्सेदारी देने का फैसला किया है. केन्द्र सरकार सभी बैंकों को 3 फीसदी हिस्सेदारी देकर सरकार अपने लिए फंड जुटाएगी.मौजूदा समय में केन्द्र सरकार के पास देश की इस सबसे बड़ी कंपनी का 58.3 फीसदी शेयर है. इस फैसले से उसके पास सिर्फ 55.3 फीसदी शेयर रह जाएगा. इंडियन ऑयल के इन 3 फीसदी शेयरों से केन्द्र सरकार को लगभग 6000 करोड़ रुपये ($993 मिलियन) का फंड मिलेगा.

इंडियन ऑयल के ये शेयर्स अमेरिकी मर्चेंट बैंक गोल्डमैन सैक और सिटी समूह को दिए जाएंगे. इनके अलावा ड्यूश ईक्विटीज, एसबीआई कैपिटल मार्केट्स और आईसीआईसीआई सिक्योरिटीज को तेल कंपनी के शेयर दिए जाएंगे.

गौरतलब है कि केन्द्र सरकार को इंडियन ऑयल कंपनी से बड़ा मुनाफा होता है. इंडियन ऑयल की रिफाइनरियों ने एक साथ मिलकर वर्ष 2016-17 में 65.2 मिलियन टन कच्चे तेल की अब तक की सबसे बड़ी मात्रा की प्रोसेसिंग की पारादीप रिफाइनरी को छोड़कर, जिसे स्थापित हुए एक साल पूरा नहीं हुआ है, बाकि रिफाइनरियों ने 105% स्थापित क्षमता प्राप्त की है.

new jindal advt tree advt
Back to top button