टेक्नोलॉजी

वॉट्सऐप पर फर्जी खबरों को रोकने के लिए बनेगी Indian Team

नई दिल्ली : वॉट्सऐप पर फर्जी खबरों को रोकने के लिए सरकार कंपनी के इंडिया हेड के साथ मिलकर एक लोकल टीम बना रही है। यह टीम फर्जी खबरों के सर्कुलेशन पर नजर बनाए रखेगी। आपको बता दें कि वॉट्सऐप से उन लोगों की जानकारी मांगी गई थी जो ये मैसेज सर्कुलेट करते हैं। लेकिन कंपनी ने इस पर फिलहाल कोई जवाब नहीं दिया है।

आईटी मंत्रालय के अधिकारी ने बताया कि वॉट्सऐप ने सरकार द्वारा भेजे गए नोटिस का जवाब दिया है। इसमें कहा गया है कि कंपनी फर्जी खबरों से निपटने और उन्हें खत्म करने के लिए प्रतिबद्ध है। इसके लिए कंपनी टीम भी बना रही है। हालांकि, वॉट्सऐप ने इस बारे में फिलहाल कोई जानकारी नहीं दी है कि फर्जी खबर भेजने वाले मूल व्यक्ति तक कैसे पहुंचा जा सकता है। वॉट्सऐप के एक अधिकारी के मुताबिक, भारत में अपने यूजर्स को सपोर्ट करने और अपना निवेश जारी रखने के लिए हमारी पहली प्राथमिकता एक स्थानीय लीडर तलाशने की है, जो ग्राउंड लेवल पर हमारे लिए एक टीम बना सके।

कंपनी ने ऐसा मानना है कि फर्जी खबरें रोकने के लिए उसे सरकार, सिविल सोसाइटी और टेक कंपनियों के साथ काम करने की जरुरत है। फर्जी खबरों से निपटने के लिए कंपनी ने अपने प्लेटफॉर्म पर एक नए फीचर की टेस्टिंग शुरू की है। इस फीचर के तहत वॉट्सऐप पर शेयर किए जाने वाले सभी तरह के मैसेज को फॉरवर्ड करने के लिए लिमिट सेट की जाएगी। कंपनी एक बार में 5 चैट के लिए लिमिट को टेस्ट करेगी। साथ ही क्विक फॉरवर्ड बटन को भी रीमूव कर दिया जाएगा।

इस फीचर के जरिए कोई भी व्यक्ति एक मैसेज को सिर्फ 5 बार फॉरवर्ड कर पाएगा। इसके बाद लिमिट क्रॉस होने पर वॉट्सऐप पर उस मेसेज को फॉरवर्ड करने का ऑप्शन को डिसेबल हो जाएगा। कंपनी ने अपने ब्लॉग पोस्ट में बताया, इस फीचर को टेस्ट किया जा रहा है जो हर किसी पर लागू होगी। इस फीचर को यह फीचर धीरे-धीरे सभी यूजर्स के पास रोलआउट किया जाएगा।

Tags
jindal