विपक्ष के हमलों के बीच गुजरात जाएंगे पीएम नरेंद्र मोदी, देंगे ये 5 ‘उपहार’

अहमदाबाद: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी रविवार को इस महीने में तीसरी बार गुजरात दौरे पर जाएंगे. इस बार प्रधानमंत्री यहां कई सौगातों का ऐलान करेंगे और कई योजनाओं का उद्घाटन और शिलान्यास करेंगे.

मोदी अपनी इस यात्रा के दौरान भावनगर और वडोदरा जिलों में कई करोड़ रुपये की योजनाएं लोगों को समर्पित करेंगे और कई परियोजनाओं की आधारशिला रखेंगे.

प्रधानमंत्री मोदी ने हाल में कहा था कि आगामी विधानसभा चुनाव में ‘विकासवाद’ और ‘वंशवाद’ के बीच लड़ाई होगी. उन्होंने कहा था कि इस लड़ाई में उनके ‘विकास के एजेंडे’ की कांग्रेस की ‘वंशवाद की राजनीति’ पर जीत होगी.

 

पीएम मोदी गुजरात वालों को देंगे ये 5 उपहार

1. पीएम मोदी केंबे की खाड़ी में भावनगर जिले के घोघा और भरूच जिले के दहेज के बीच 615 करोड़ रुपये की रोल-ऑन रोल ऑफ (रो-रो) फेरी सेवा के पहले चरण का उद्घाटन करेंगे.

2. प्रधानमंत्री मोदी ने सोमवार को गांधीनगर में एक जनसभा को संबोधित करते हुए फेरी सेवा को ‘अपनी महत्वाकांक्षी योजना’ बताया था. वह घोघा में एक जनसभा को संबोधित करेंगे और दहेज तक फेरी से जाएंगे.
3. दहेज से प्रधानमंत्री मोदी वडोदरा के लिए रवाना होंगे, जहां उनके 1,140 करोड़ रुपये से अधिक की परियोजनाओं के उद्घाटन और शिलान्यास करने का कार्यक्रम है.

4. रो-रो परियोजना का कार्य देख रहे गुजरात मत्स्य बोर्ड के मुख्य कार्यकारी अधिकारी अजय भडु ने बताया कि मोदी रविवार को पहले चरण का उद्घाटन करेंगे, जो यात्रियों के लिए होगा. दूसरा चरण दो महीने में पूरा होगा और दोनों शहरों के बीच कार भी ले जाया जा सकेगा. मोदी ने गुजरात के मुख्यमंत्री रहते हुए जनवरी 2012 में परियोजना की आधारशिला रखी थी.

5. वडोदरा में मोदी 1,140 करोड़ रुपये की आठ अलग-अलग परियोजनाओं का उद्धाटन करेंगे.

पीएम मोदी के दौरा शुरू करने से दो दिन पहले कांग्रेस नेता पी चिदंबरम ने गुजरात विधानसभा चुनाव की तिथि की घोषणा नहीं करने के लिए चुनाव आयोग (ईसी) पर शुक्रवार को निशाना साधा और तंज कसा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को राज्य में अपनी ‘अंतिम रैली’ में चुनाव की तारीखें घोषित करने के लिए “अधिकृत” कर दिया गया है.

पूर्व वित्त और गृह मंत्री पी चिदंबरम ने कटाक्ष से भरे सिलसिलेवार ट्वीट में दावा किया कि गुजरात सरकार द्वारा सभी ‘रियायतों और सौगातों’ की घोषणा करने के बाद अब चुनाव आयोग को उसकी विस्तारित छुट्टी से वापस बुला लिया जाएगा.

उन्होंने ट्वीट कर कहा, “चुनाव आयोग ने प्रधानमंत्री को उनकी अंतिम रैली में गुजरात चुनाव की तारीख घोषित करने के लिए अधिकृत कर दिया है ( और कृपया कर चुनाव आयोग को सूचित कर देने के लिए कहा है ).”

आयोग ने 12 अक्टूबर को हिमाचल प्रदेश में नौ नवम्बर को विधानसभा चुनाव कराये जाने की घोषणा की है लेकिन गुजरात विधानसभा चुनाव कार्यक्रम की घोषणा नहीं की थी. आयोग ने सिर्फ इतना कहा कि गुजरात में चुनाव 18 दिसंबर से पहले होंगे.

 

Back to top button