राष्ट्रीय

रेलवे ने फेल कैंडिडेट्स को दे दिया अहम पद?

सोशल मीडिया पर इन दिनों वेस्टर्न रेलवे की एक प्रेस रिलीज़ वायरल है, जिसके जरिए दावा किया जा रहा है कि रेलवे ने ऐसे दो कैंडिडेट्स को असिस्टेंट कमर्शल मैनेजर जैसे महत्वपूर्ण पद पर नौकरी दे दी जो लिखित परीक्षा में फेल हो गए थे।

प्रेस रिलीज़ में भी साफ-साफ लिखा है कि उन्हें ‘फेल होने वालों में बेस्ट कैंडिडेट’ नीति के तहत नौकरी दी गई है।

सामाजिक कार्यकर्ता मधु किश्वर ने ट्विटर पर यह प्रेस रिलीज़ शेयर की थी, जिसमें उन्होंने लिखा, ‘आरक्षण के नाम पर एक और मजाक।

फेल होने वालों में बेस्ट कैंडिडेट को नौकरी दे दी गई। भारत में अब इस तरह योग्यता का पैमाना तय किया जाएगा।’ किश्वर के ट्वीट को हजारों लोगों ने रीट्वीट और लाइक किया है।

इस बारे में जब हमने वेस्टर्न रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी (CPRO) रविंद्र भाकर से बात की, तो उन्होंने बताया कि इस प्रेस रिलीज़ के नाम पर भ्रम फैलाने की कोशिश की जा रही है।

उन्होंने बताया, ‘यह कोई ओपन एग्ज़ाम नहीं था, बल्कि एक डिपार्टमेंटल एग्ज़ाम था। दोनों कैंडिडेट्स की नियुक्ति सरकार के नियमों के मुताबिक ही की गई है।’

उन्होंने बताया, ‘लिखित परीक्षा में कोई भी कैंडिडेट मिनिमम मार्क्स नहीं ला पाया था। यह विभागीय परीक्षा थी और दोनों पद ST के लिए आरक्षित थे, तो दोबारा एग्जाम लेने पर भी वही कैंडिडेट्स होते और रिजल्ट भी लगभग वही होता।

इसलिए विभागीय परीक्षाओं को लेकर रेलवे के जो नियम हैं, उन्हीं के मुताबिक रेलवे ने इन दो कैंडिडेट्स की नियुक्ति की है।’

 

Summary
Review Date
Reviewed Item
रेलवे
Author Rating
51star1star1star1star1star
Tags

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *