कोरोना वायरस को लेकर स्वदेशी टीका और भी ज्यादा असरदार, रिकॉर्ड टूटा…

कोवाक्सिन को लगाने के तीन महीने बाद शरीर में एंटीबॉडी बढ़ना शुरू

नई दिल्ली: भारत बायोटेक का कोवाक्सिन दूसरे चरण के परीक्षण में असरदार मिला है। विदेशों में जिन वैक्सीन का इस्तेमाल किया जा रहा है उनकी तुलना में कोवाक्सिन के लगाने के बाद छह गुना कम लोगों में दुष्प्रभाव के मामले देखने को मिले हैं।

इस कोवाक्सिन को लगाने के तीन महीने बाद शरीर में एंटीबॉडी बढ़ना शुरू हो जाता है। जबकि 14 से 28 दिन के भीतर एंटीबॉडी बनने लगती है। कोवाक्सिन ने हाई न्यूट्रालाइजिंग एंटीबॉडी रिस्पॉन्स को बढ़ाने में मदद की।

ब्यूरो टीका लगवाने के 48 घंटे तक नहीं उड़ा सकेंगे विमान…

पायलटों समेत चालक दल के सभी सदस्य कोरोना वायरस का टीका लगवाने के 48 घंटे तक विमान नहीं उड़ा सकेंगे। उड्डयन महानिदेशालय (डीजीसीए) द्वारा जारी सर्कुलर के मुताबिक, 48 घंटे के बाद कोई लक्षण नजर नहीं आता है तो ही ड्यूटी पर लौटने की इजाजत होगी।डीजीसीए के मुताबिक, 48 घंटे के बाद किसी भी तरह के दुष्प्रभाव महसूस करने पर चालक दल की इलाज करके समीक्षा की जाएगी।

रिकॉर्ड टूटा…

एक दिन में 20 लाख को लगाया टीका कोरोना के टीकाकरण ने सारे रिकॉर्ड तोड़ते हुए एक दिन में 20 लाख लोगों को वैक्सीन लगाने में सफलता हासिल की है। अभी तक दुनिया के किसी भी देश में एक दिन में 20 लाख से भी ज्यादा लोगों को कोरोना का टीका नहीं लगा है। स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार बीते सोमवार को देश में कोरोना टीकाकरण के 52वें दिन 20,19,723 लोगों ने वैक्सीन लेकर एक मजबूत संदेश पूरे देश को दिया है।

Tags
cg dpr advertisement cg dpr advertisement cg dpr advertisement
cg dpr advertisement cg dpr advertisement cg dpr advertisement

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button