इंदिरा विहार बना शराबियों का अड्डा

इंदिरा विहार के कर्मचारी पर्ची काटने में मस्त

हिमालय मुखर्जी ब्यूरो चीफ रायगढ़

रायगढ़ : रायगढ़ के विजयपुर में सिथित इंदिरा विहार पार्क पर्यटन स्थल कम और शराबियों को अड्डा ज्यादा बन चुका है। ऐसा हम नहीं कह रहे हैं, बल्कि गुरुवार को कार्तिक पूर्णिमा के दिन पार्क से इकठा करने पर दो बोरी से भी अधिक शराब की निकली बोतलें निकलेगी.

जब इंदिरा विहार के कर्मचारियो से पूछा गया की इंदिरा विहार के अंदर शराब ले जाना मना व प्रतिबंधित है लेकिन इंदिरा विहार के अंदर जहां तहाँ पड़ी खाली शराब की बोतले, कही कही खाली शराब की बोतले को फोड़ दिया गया है जिससे आने जाने वालो के काफी समस्याओ का सामना करना पड़ता है आये दिन यहाँ शराबियो का जमावाड़ा लगा रहता है

हठधर्मी व तानाशाह सरकार की हार है कृषि कानूनों का वापस होना : माकपा 

इस संबंध में पूछताछ की गई लेकिन वहां उपस्थित कर्मचारी ने तो इससे खुद को अंजान बताया। और वहां उपस्थित कर्मचारियों से नाम पूछा गया लेकिन कर्मचारियों ने अपना नाम नहीं बताया उनका कहना था कि इंदिरा विहार प्रभारी छोटेलाल डंगसेना जी से बात कीजिए और इस विषय में हम आपको कुछ नहीं बता पाएंगे जबकि इंदिरा विहार पार्क में इंटर करने का एक मात्र प्रवेश द्वार है।जहां बाकायदा पर्यटकों को पर्ची कटवाने के बाद ही अंदर प्रवेश दिया जाता है। और सामने को चेक भी किया जाता है इसके बावजूद पार्क से भारी मात्रा में शराब की बोतलें निकलना, कर्मचारियों की कार्यशैली को लेकर उंगली खड़ी कर ही है।

वन विभाग द्वारा इंदिरा विहार को पर्यटक स्थल के रूप में विकसित किया गया है। ताकि लोग इसका अपने परिवार के साथ लुत्फ उठा सकें।इसके लिए हर साल लाख रुपए खर्च भी किए जाते है। इस पिकनिक स्पॉट पर कुछ प्रमुख त्यौहारों के अलावा रोजाना भारी संख्या में लोग पिकनिक मनाने आते है, लेकिन जिस मात्रा में यहां शराब की बोतलें दिखी है। इससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि इंदिरा विहार पार्क पर्यटन स्थल नहीं बल्कि शराबियों का मयखाना बन चुका है।

केंद्र सरकार के हाथ इस देश के अन्नदाताओं के खून से रंगे हुए है,इन पर भरोसा नही किया जा सकता : पलविंदर सिंह पन्नू

जिसमें कर्मचारियों की मिलीभगत के कारण दूसरे पर्यटको को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता है हालांकि कर्मचारियों से इस संबंध में चर्चा की गई तो उन्होंने इससे अंजान बनते हुए कहा कि पिछले दिनों यहां सैकड़ों लोग पिकनिक मनाने पहुंचे थे, उन्होंने ही शराबखोरी की होगी।

शराब की बोतलें निकलने की संभावना- शुक्रवार को बोतलो को इकठा किया जाये तो लगभग कुछ ही समय में पांच बाेरी से भी अधिक बोतलें एकत्रित हो जाएगी। इंदिरा पार्क में सभी जगह बोतलों की भरमार है इससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि गार्डन् में शराबखोरी किस कदर जारी है।

क्या कहते है इंदिरा विहार प्रभारी = हमने दूरभाष के माध्यम से इंदिरा विहार प्रभारी छोटेलाल डगसेना से बात की और शराबखोरी के बारे में अवगत कराया तो ने कहा की आज के दिन किसको किसको बोलिये गा कह कर उन्होंने अपने अपना पल्ड़ा झाड़ लिया.

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button