35 रनों से हारा भारत, ऑस्ट्रेलिया ने 3-2 से जीती सिरीज़

ऑस्ट्रेलिया ने दिल्ली के फ़िरोज़ शाह कोटला मैदान पर पांचवें और अंतिम वनडे मुक़ाबले में भारत को 35 रन से हराकर सिरीज़ 3-2 से अपने नाम कर लिया.

पांच मैचों की वनडे सिरीज़ के अंतिम और निर्णायक मुक़ाबले में ऑस्ट्रेलिया ने पहले बल्लेबाज़ी करते हुए भारत के सामने जीत के लिए 273 रनों का लक्ष्य रखा था लेकिन भारतीय टीम 237 रन पर ऑल आउट हो गई.

ऑस्ट्रेलिया की जीत में बल्लेबाज़ उस्मान ख़्वाजा, पीटर हैंड्सकॉम्ब और स्पिनर एडम ज़म्पा ने शानदार प्रदर्शन किया.

ख़्वाजा ने शतक जड़ा तो हैंड्सकॉम्ब ने अर्धशतक बनाया. वहीं ज़म्पा ने तीन महत्वपूर्ण विकेट लिए.

भारतीय बल्लेबाज़ी के दौरान चौथे मैच में अपने वनडे करियर की सर्वश्रेष्ठ पारी खेलने वाले शिखर धवन केवल 12 रन बना सके.

25वें ओवर में 120 रन तक भारत ने कप्तान कोहली (20), विकेट कीपर रिषभ पंत (16) और विजय शंकर (16) के विकेट गंवा दिए. इस दौरान रोहित शर्मा एक छोर से पिच पर डटे रहे और अपना 41वां अर्धशतक लगाया.

आक्रामक क्रिकेट खेलने के लिए मशहूर रोहित इस पारी में बहुत संभल कर खेलते दिखे और इस दौरान उन्होंने वनडे क्रिकेट में 8,000 रन पूरे किए.

अर्धशतक बनाने के लिए उन्होंने 73 गेंदों का सामना किया. इसके बाद वो इसे बड़ी पारी में नहीं बदल सके और 89 गेंद पर 56 रन बनाकर आउट हो गए.

रोहित के बाद आए रवींद्र जाडेजा अपना खाता भी नहीं खोल सके और ज़म्पा का शिकार बन गए.

132 रन पर छह विकेट गंवा चुकी भारतीय टीम की जीत की आस लगभग समाप्त हो चुकी थी कि एक छोर से केदार जाधव और दूसरी ओर से भुवनेश्वर कुमार जम गए और लगातार बेहतरीन शॉट्स लगाते रहे.

दोनों अगले 17 ओवर तक पिच पर टिके रहे और 91 रनों की अर्धशतकीय साझेदारी निभाई. लेकिन 46वें ओवर की अंतिम गेंद पर भुवनेश्वर (46) और इसके अगले ही ओवर की पहली गेंद पर केदार जाधव (44) के आउट होने के साथ ही भारत की जीत की उम्मीद ख़त्म हो गई.

ऑस्ट्रेलिया की मजबूत शुरुआत

इससे पहले ऑस्ट्रेलिया ने 50 ओवरों में 9 विकेट पर 272 रन बनाए. शुरुआती 30 ओवरों में महज एक विकेट के नुक़सान के साथ 161 रन बनाकर ऑस्ट्रेलिया बड़े स्कोर की तरफ बढ़ रहा था. लेकिन भारतीय गेंदबाज़ों ने एक बार फिर बीच के ओवरों में वापसी करते हुए ऑस्ट्रेलिया को बड़ा स्कोर करने से रोक दिया.

ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज़ों ने अगले दस ओवरों में महज 41 रन जोड़े जबकि इस दौरान उनके तीन विकेट गिरे. फिर अंतिम 10 ओवर्स में पांच विकेट गंवा कर 70 रन बनाए. इसमें भी 48वें ओवर में आए 19 रनों के दम पर ऑस्ट्रेलियाई पारी 255 से ऊपर जा सकी.

एक समय लग रहा था कि ऑस्ट्रेलियाई टीम आसानी से 300 रन बना लेगी लेकिन भारतीय गेंदबाज़ों ने अंतिम 20 ओवरों में उनके आठ विकेट चटका दिए. इस दौरान केवल 111 रन बने और ऑस्ट्रेलिया का स्कोर 275 भी नहीं पहुंच सका.

ख्वाजा-हैंड्सकॉम्ब की जोड़ी ने दूसरे विकेट के लिए 111 गेंदों पर 99 रन की अहम साझेदारी निभाई
ख़्वाजा-हैंड्सकॉम्ब की अहम साझेदारी

टॉस जीतकर पहले खेलने उतरे ऑस्ट्रेलिया के सलामी बल्लेबाज़ कप्तान एरॉन फिंच और उस्मान ख्वाजा ने मजबूत शुरुआत दी. दोनों ने पहले विकेट के लिए 14.3 ओवरों में 76 रनों की साझेदारी की.

तेज़ गेंदबाज़ों के विकेट लेने में असफल रहने पर कोहली ने स्पिनर्स लगाए और रवींद्र जाडेजा ने पहला विकेट फिंच के रूप में ले लिया. फिंच ने 43 गेंदों पर 27 रनों की पारी खेली.

इसके बाद ख़्वाजा और पीटर हैंड्सकॉम्ब ने भारतीय स्पिनरों के सामने संभल कर बल्लेबाज़ी करते हुए रह रह कर बड़े शॉट्स खेलते रहे.

हैंड्सकॉम्ब ने स्पिनरों पर स्वीप शॉट का इस्तेमाल किया तो वहीं ख़्वाजा ने क़दमों का अच्छा इस्तेमाल करते हुए रन बनाए.

ख़्वाजा ने 32वें ओवर में अपने करियर और इस सिरीज़ का दूसरा वनडे शतक पूरा किया. हैंड्सकॉम्ब ने 60 गेंदों पर 52 रनों की अच्छी पारी खेली.

पंत ने छोड़ा कैच

हैंड्सकॉम्ब के अर्धशतक में विकेट कीपर रिषभ पंत का भी योगदान रहा. पंत ने 32वें ओवर में कुलदीप की दूसरी गेंद पर हैंड्सकॉम्ब का कैच छोड़ दिया था.

हालांकि दोनों की जोड़ी 111 गेंदों पर 99 रन बनाने के बाद तब टूट गई जब भुवनेश्वर कुमार की गेंद पर ख्वाज ने शॉर्ट कवर्स पर कोहली को आसान कैच थमा दिया.

175 रनों पर दूसरा विकेट गिरने के बाद पिच पर आए ग्लैन मैक्सवेल लेकिन वो महज एक रन बना कर जाडेजा का शिकार बने.

दूसरी तरफ़ अर्धशतक पूरा करने के बाद हैंड्सकॉम्ब, शमी का शिकार हो गए. हैंड्सकॉम्ब का विकेट 182 के कुल स्कोर पर गिरा.

यहां से भारतीय गेंदबाज़ हावी हो गए और ऑस्ट्रेलिया की रन गति को धीमा कर दिया. स्टोइनिस और टर्नर ने 20-20, रिचर्डसन ने 29 और कमिंस ने 15 रन बनाए.

ऑस्ट्रेलियाई पारी में भुवनेश्वर कुमार ने तीन विकेट लिए जबकि मोहम्मद शमी और रवींद्र जाडेजा ने दो-दो और कुलदीप यादव ने एक विकेट लिया.

Back to top button